यू्क्रेन के कई शहर रूसी हमलों के कारण वहां पढ़ने वाले भारतीय छात्रों को सुरक्षित भारत लाने का ऑपरेशन जारी है. इस बीच मधुबनी जिले के मधवापुर प्रखंड के छात्र प्रमोद कुमार सुरक्षित भारत लौटे हैं. मधवापुर प्रखंड के मिन्ती गांव के स्व. बैधनाथ प्रसाद के पुत्र प्रमोद कुमार करीब दस दिनों तक यूक्रेन में फंसे रहे, इस बीच 4 मार्च को वह दिल्ली पहुंचे जहां से 5 मार्च को वह अपने घर पहुँच चुके हैं. प्रमोद कुमार यूक्रेन में Kiev Medical University Ukraine के मेडिकल के चौथे वर्ष के छात्र हैं. 

1

प्रमोद ने बताया कि रोमानिया से अपने गृह जिला तक पहुंचने में सारा खर्च केन्द्र सरकार और राज्य सरकार ने वहन किया. उन्होंने कहा कि सरकार ने विपत्ति में हम सबकी बहुत मदद की है. भारतीय दूतावास द्वारा हर संभव सहायता प्रदान की गई है. 

2

जानकारी हो कि यू्क्रेन के कई शहर रूसी हमलों के बाद खाली किए जा रहे हैं. इस बीच कई भारतीय छात्र और अन्य लोग अब भी यूक्रेन के अलग-अलग हिस्सों में फंसे हैं और सरकार की मदद का इंतजार कर रहे हैं. यूक्रेन में फंसे इन्हीं लोगों को लेकर अब विदेश मंत्रालय ने एक बार फिर जानकारी दी है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने बताया है कि, पहली एडवाइजरी जारी होने के बाद से अब तक 18 हजार भारतीय सुरक्षित यूक्रेन से भारत लौटे हैं.


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post