बेनीपट्टी(मधुबनी)। विश्व मातृभाषा दिवस के अवसर पर मातृभाषा  मैथिली और मिथिलाक्षर के प्रचार प्रसार  करने वाले नगर पंचायत बेनीपट्टी के निवासी ललित कुमार ठाकुर के द्वारा बिहार के महामहिम राज्यपाल, मुख्यमंत्री, जल संसाधन मंत्री संजय झा, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण मंत्री रामप्रीत पासवान, बेनीपट्टी के विधायक विनोद नारायण झा, खजौली के विधायक अरुण शंकर प्रसाद, विधान परिषद सदस्य घनश्याम ठाकुर व प्रेमचंद्र मिश्रा को मिथिलाक्षर में पत्र लिखकर मिथिला की सभी सरकारी कार्यालय में मैथिली भाषा में आवेदन स्वीकार करने हेतु गुहार लगाई है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि मैथिली भाषा संविधान के अष्टम अनुसूची मे शामिल है। 

1

इस भाषा से प्रत्येक वर्ष मिथिला के साथ-साथ अन्य राज्यों के छात्र-छात्रा द्वारा संघ लोकसेवा और राज्य लोक सेवा की परीक्षा उत्तीर्ण कर देश की सेवा करते हैं। इस भाषा की अपनी लिपि है जिसे मिथिलाक्षर या तिरहुता कहा जाता है। इन सब के बावजूद  मिथिला के सरकारी कार्यालय मे मैथिली मे आवेदन स्वीकार नहीं किया जाता है। इसलिए मिथिला के सभी सरकारी कार्यालय में मैथिली मे लिखा हुआ आवेदन स्वीकार किया जाय इस आशय का पत्र सरकार के स्तर से जारी किया जाय। साथ ही उन्होंने मिथिला क्षेत्र के सभी सरकारी कार्यालयों का नाम देवनागरी के साथ-साथ मिथिलाक्षर में भी लिखाने  हेतु भी पत्रों के माध्यम से अनुरोध किया  है। इनके इस पहल और मातृभाषा तथा मातृलिपि के प्रति प्रेम और समर्पण की सराहना सर्वत्र की जा रही है। विदित हो कि ललित कुमार ठाकुर विगत कई वर्षों से मैथिली और मिथिलाक्षर के  प्रचार- प्रसार में  से लगे हुए हैं। जिसके लिए इन्हें बिहार और बिहार के बाहर भी विभिन्न संस्थानों के द्वारा सम्मानित किया जा चुका है। इन्होंने मिथिलाक्षर में पाँच कविता संग्रह और कविश्वर चन्दा झा रचित मिथिला भाषा रामायण का  भी लिप्यांतरण  किया है।

2


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here


Previous Post Next Post