बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी के पतौना पुलिस के कार्यशैली पर रामाधार सहनी के हत्या मामले में सवाल खड़े हो रहे है। आखिर, पुलिस रामाधार के हत्यारों पर इतने दरियादिली क्यों दिखा रही है। मृतक के परिजन लगातार पतौना ओपीध्यक्ष पर सवाल उठा रहे है। मृतक की पत्नी दायजी देवी ने तो स्पष्ठ रूप से बताया कि उन्हें पतौना पुलिस पर से विश्वास उठ गया है। पीड़ितों ने बताया कि जब रामाधार सहनी का शव गढ्ढे से मिला था। उस समय उसके शरीर पर बने जख्म ही उसकी हत्या की गवाही दे रहा था, लेकिन पतौना पुलिस डूब कर मौत की बात कहकर सादा कागज पर हस्ताक्षर लेकर चली गयी। जबकि, वे लोग जानते थे, की उनकी हत्या कर शव को गढ्ढे में फेंक दिया गया है।


पीड़ितों का आरोप है कि वे लोग पुलिस को लगातार हत्या की बात कहते रहे, लेकिन, वे लोग यूडी कांड अंकित कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पोस्टमार्टम में जब हत्या की पुष्टि हुई तो भी पतौना पुलिस एक्टिव नजर नहीं आ रही है। अब तक उक्त यूडी को हत्याकांड में तब्दील नहीं कर सकी है।


जिससे मृतक के परिजन आक्रोशित है। उधर, मृतक के पत्नी दायजी देवी ने पुलिस महानिरीक्षक दरभंगा रेंज को आवेदन देकर ओपीध्यक्ष के कार्यशैली की जमकर शिकायत की है। उन्होंने दिए गए आवेदन में कहा है कि 29 अगस्त को शव मिलने के बाद उनके द्वारा हत्या का बयान दिया गया था, लेकिन ओपीध्यक्ष विजय पासवान ने सादा कागज पर हस्ताक्षर लेकर यूडी कांड अंकित कर दिया। पीड़िता ने ओपीध्यक्ष पर आरोपी से रकम लेकर मामले को रफा दफा करने का भी आरोप लगाया है।


मालूम हो कि गत 29 अगस्त को जगवन कटैया पूर्वी के गड्ढे में रामाधार सहनी (35) का शव मिला था। शव के नाक से खून व मुंह से भी खून बहने का स्पष्ट चिन्ह था। वही मृतक के गले में भी काला दाग था। मृतक के परिजन गांव के श्रवण सहनी, मनोज सहनी, वीरेंद्र सहनी, दिलीप सहनी, धर्मेंद्र सहनी व मोहन सहनी पर रामाधार सहनी की हत्या कर शव को गढ्ढे में फेंकने का आरोप लगा रहे थे। लेकिन पुलिस ने उनकी एक न सुनी। जबकि, पीड़ित लगातार वरीय अधिकारियों तक दौड़ती रही और सभी को हत्या की बात कही। लेकिन, वरीय अधिकारियो ने भी पोस्टमार्टम रिपोर्ट का बहाना बनाकर टालते रहे। अब जबकि, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि हो चुकी है, बावजूद पुलिस अब तक किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। पीड़ित का आरोप है कि सभी आरोपी उनके घर पहुँच कर केस नहीं करने की धमकी दे रहे है।


इस संबंध में पुलिस इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि हुई है। रिपोर्ट प्राप्त हो चुका है। जल्द ही हत्या का मामला दर्ज आरोपियों को जेल भेजा जाएगा।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post