Ticker

6/recent/ticker-posts

मोटरेबल के नाम पर विभाग ने कर दिया पाली पथ का सत्यानाश



बेनीपट्टी(मधुबनी)। विधायक व विधान परिषद सदस्य के पत्र को सरकारी विभाग कितने गंभीरता से लेती है। इसका जीता जागता उदाहरण बन गया है पाली से कमतौल जाने वाली पथ। पथ को मोटरेबल कराने के चक्कर में विभाग ने पथ का सत्यानाश कर दिया। मुख्य सड़क पर चिकनी मिट्टी डाल देने से लोग बाइक तो दूर पैदल भी चल नहीं पा रहे है। लेकिन, इन सबसे बेफिक्र है विभाग।


आपको बता दे कि गत विधानसभा चुनाव में क्षेत्र भ्रमण के दौरान पाली कमतौल पथ की स्थिति दयनीय देख निर्वाचित होते ही भाजपा के विधायक सह पूर्व मंत्री विनोद नारायण झा ने विभाग को बरसात पूर्व मोटरेबल कराने को कहा था। लेकिन, विभाग उक्त पत्र पर बारिश पूर्व कोई काम नहीं कर सका। उधर, एमएलसी घनश्याम ठाकुर ने भी उक्त पथ के निर्माण से पूर्व मोटरेबल के लिए विभागीय मंत्री व अधिकारी को पत्र दिया था। चूंकि, इस पथ की दयनीय स्थिति से हर जनप्रतिनिधि वाकिफ है। ऐसे में जनता के दर्द को देख जनप्रतिनिधियों ने तो अपना फर्ज अदा कर दिया।


लेकिन, विभाग ने उक्त पथ को मोटरेबल कराने की जहमत ऐसी दिखाई की अब ग्रामीणों को मोटरेबल पूर्व की सड़क ही बेहतर लग रही है। विभाग के आदेश पर संवेदक ने कही कही कालीकरण कर कर्तव्य निभा दिया। वही, हाल में उक्त पथ पर ईंट के टुकड़े व मिट्टी डाल दिया गया। जो खतरनाक हो गयी है। ईंट के टुकड़े पर मिट्टी जम जाने से बाइक फिसल रहा है। वही, मंझिला टोल के मुहाने से पूर्व मंदिर के समीप मोटरेबल के नाम पर सड़क पर बन गए गढ्ढे में चिकनी मिट्टी डाल दिया। जहां बाइक चलाना तो दूर पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। हल्की बारिश होने पर मिट्टी पर पानी जमा हो जाता है, जहां लोग फिसलकर गिर रहे है। 


ग्रामीणों ने बताया कि सड़क पर मिट्टी डाल देने से आवाजाही काफी खतरनाक हो गयी है। इससे अच्छा तो पहले ही था। लोग जलजमाव के बीच किसी तरह बाइक निकाल पा रहे थे, अब तो बाइक कब कहाँ गिर जाए, कहना मुश्किल हो गया है। ग्रामीणों ने बताया कि संयोग है कि अभी बारिश रुकी हुई है, अन्यथा, लोग चल नहीं पाते।


बता दे कि एस-एच 52 पथ के पाली चौक से लेकर टेढ़ा मोड़ तक सड़क काफी जर्जर हो चुकी है। सड़क का निर्माण करीब 12 वर्ष पूर्व नाबार्ड योजना से कराई गई थी। इस बीच उक्त पथ तीन भीषण बाढ़ को झेल चुका है। ऐसे में सड़क की स्थिति का आकलन सहज किया जा सकता है। जबकि, उक्त पथ से पाली गोट, जगवन, कटैया, कमतौल आदि बिस्फी के कई पंचायत के लोग बेनीपट्टी की आवाजाही करते है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here

Post a Comment

0 Comments