मेरा बेनीपट्टी से मां बेटे का सम्बंध है.... इस धरती ने हमें बेटे के रूप में स्वीकार किया है। जब मैं 2015 में चुनाव हारा तो मैनें हार के बावजूद भी बेनीपट्टी में घर बनाया.... ताकि मेरा रिश्ता यहां से जुड़ा रहे... मेरी इच्छा है मेरी अर्थी यहां से उठे... 


यह बातें शायद आपको याद होंगी... यह बेनीपट्टी के बीजेपी विधायक विनोद नारायण झा के जुबान से निकले उस समय के शब्द थे जब वह 2020 के विधानसभा चुनाव में अपनी खोई हुई बेनीपट्टी विधानसभा सीट जो कि उनके लिए सीट कम और प्रतिष्ठा अधिक थी, उसको हासिल करने की मिशन में लगे हुए थे। किस्मत और जनता ने साथ भी दिया और बेनीपट्टी की जनता ने विनोद नारायण झा को रिकॉर्ड तोड़ 78 हज़ार से अधिक वोट देकर इन्हें सहज उसी रूप में सम्मान वापस कर दिया, जिसकी उन्हें 2015 में मिली हार के बाद दरकार थी। 


लेकिन 2020 के विधानसभा चुनाव में 78 हज़ार वोट पाकर विधायक बनें विनोद नारायण झा पिछले 69 दिनों से उस बेनीपट्टी क्षेत्र से गायब हैं जिसे वह चुनाव के समय मां और सदा उस मां के आँचल में रहने की बात कहते हुए नजर आ रह थे। बेनीपट्टी में विनोद नारायण झा अंतिम बार 28 मार्च 2021 को होली मिलन समारोह में नजर आये थे। जिसके बाद महमदपुर कांड हुआ, कोरोना की दूसरी लहर से लोग परेशान हुए लेकिन विनोद नारायण झा की उपस्थिति कहीं नहीं दिखी इधर मीडिया में विनोद नारायण झा के क्षेत्र से गायब रहने की खबर भी गौण है, यह बेहतर मीडिया मैनेजमेंट का एक नमूना भी है।


इसके परे बेनीपट्टी में घर होने का हवाला देकर, बेनीपट्टी से मां बेटे का सम्बंध बताकर चुनावी पताका लहराने वाले विनोद नारायण झा, जो कि बेनीपट्टी के प्रति अगाध प्रेम दिखाकर अपनी अर्थी भी बेनीपट्टी से निकालने की इच्छा व्यक्त कर चुके हैं, वो कोरोना के डर से राजधानी पटना में खुद को ऐसा आईसोलेट कर चुके हैं, जहां से सिर्फ ऑनलाइन मीटिंग हो सकती है।और भगवान भरोसे छोड़ दिया है उस बेनीपट्टी को, जिससे चुनाव में वह मां बेटे का नाता जोड़ रहे थे।


कोरोना की दूसरी लहर की शुरुआत में 29 मार्च को जब महमदपुर कांड हुआ तो उस समय भी विनोद नारायण झा के क्षेत्र में ना रहने को लेकर सवाल खड़े हुए, जिसके बाद उनका एक वीडियो बयान सामने आया था, जिसमें उन्होंने बताया था कि वह दिल्ली में पारिवारिक समस्या से घिरे हुए हैं, इसीलिए वह क्षेत्र में नहीं हैं। 


हालांकि परिवारिक समस्या से उबरने के बाद क्षेत्र में विनोद नारायण झा की मौजूदगी की उम्मीद लगाए जनता की उम्मीदें अब भी पूरी नहीं हुई है। विनोद नारायण झा का यही हाल लॉकडाउन के पहले लहर 2020 में भी था, उस समय विनोद नारायण झा MLC और मंत्री थे। पहली लहर में जब कोरोना से लोग त्राहिमाम कर रहे थे तब महीनों बाद चुनावी बिगुल बजने पर पार्टी के आदेश पर ऑनलाइन मीटिंग में भाग लेने वह बेनीपट्टी पहुंचे थे। सवाल तब भी उठे थे, लेकिन जवाब वाजिब नहीं था।


इधर कोरोना कि दूसरी लहर में विनोद नारायण झा के क्षेत्र से गायब रहने को लेकर सोशल मीडिया में लापता विनोद नारायण झा लिखे हुए कुछ पोस्ट्स भी आये लेकिन इसका कोई फर्क नहीं पड़ा। 


इतना ही नहीं, चुनाव के दौरान विनोद नारायण झा के प्रमुख सहयोगी सारथी के रूप में रहे जदयू के प्रखंड अध्यक्ष शशिभूषण सिंह ने भी वैश्विक महामारी कोरोना काल में अधिकारियों के रवैये और सरकार के सिस्टम के खिलाफ अपना बयान दे चुके हैं। हाल में ही जेडीयू के प्रखंड अध्यक्ष शशिभूषण सिंह ने भी कई सवाल खड़े किये थे, जेडीयू अध्यक्ष श्री सिंह ने बताया था कि बेनीपट्टी में सरकार के आदेश के बाद भी मास्क का वितरण नहीं कराया गया है। जिसकी शिकायत उन्होंने प्रभारी मंत्री सह खाद्य उपभोक्ता मंत्री लेसी सिंह के समक्ष वर्चुअल बैठक में भी की। शशिभूषण सिंह ने स्पष्ट रूप से कहा था कि जिस तरह पिछले कोरोनाकाल में मास्क का दर्शन नहीं हुआ, वैसी ही स्थिति इस बार भी है।  वहीं दूसरी तरफ बेनीपट्टी विधायक विनोद नारायण झा के नजर में सब कुछ ठीक है, यह भी एक वजह है जिसके कारण उनकी उपस्थिति 2 महीने से अधिक से बेनीपट्टी क्षेत्र से नदारद हैं।



वहीं विधायक विनोद नारायण झा के क्षेत्र से नदारद रहने को लेकर राजद के नेता ओम प्रकाश यादव ने कहा है कि इस हाल के जिम्मेदार विधायक के साथ-साथ वो जनता है भी जो वोट देकर अपने प्रतिनिधियों को उसके जिम्मेदारियों का एहसास नहीं करवाते हैं। जो झाल मृदंग बजाकर चुनावों में नेताओं का जिंदाबाद तो करते हैं लेकिन जब ऑक्सीजन और दवाई की किल्लत से मां, बाप, भाई बहन, बेटे भतीजे, सगे सम्बंधी की जान जाती है तो अपने वोट से लोकतंत्र के प्रतिनिधि बनाये नेताओं के कॉलर पकड़ने के बजाय अस्पतालों में तोड़ फोड़ कर क्रांति करते है और बदले में ले जाते हैं मां बाप संगे संबंधी का लाश और सरकारी काम में बाधा उत्पन्न करने का FIR, जनता को भी जनप्रतिनिधियों की जिम्मेदारी का समय-समय पर एहसास करवाते रहना चाहिए।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post