Ticker

6/recent/ticker-posts

फर्जी नर्सिंग होम में सिजेरियन ऑपरेशन का गंदा खेल

 


बेनीपट्टी(मधुबनी)। फर्जी नर्सिंग होम के मामले में किरकिरी झेल रहे स्वास्थ्य विभाग अब कार्रवाई के मूड में आ चुकी है। विभाग के नोटिस मिलने के बाद चिन्हित 19 फर्जी नर्सिंग होम के संचालकों में हड़कंप मचा हुआ है। कुछ नर्सिंग होम बोर्ड हटाने में जुटा हुआ है तो कुछ संस्थान को दूसरे जगह शिफ्ट करने की जुगत में लगा हुआ है।  वहीं, सूत्रों की माने तो कुछ नर्सिंग होम के संचालक फिलहाल कुछ दिनों के लिए नर्सिंग होम को बंद करने पर विचार कर रहे है। बताया जा रहा है कि चिन्हित सभी नर्सिंग होम अलर्ट मोड़ पर काम कर रही है। मरीजो के देखने के लिए ओटी कही तो मरीजों का ऑपरेशन कहीं और किया जा रहा है, ताकि, जांच टीम अथवा कोई अधिकारी आये तो उसे झांसा दिया जा सके। दरअसल, फर्जी नर्सिंग होम के संचालन में मोटी कमाई को देख कर कोई संचालक सीधे तौर पर इस गोरखधंधा को बंद नहीं करना चाहता है। सूत्रों की माने तो ऐसे नर्सिंग होम में ’सिजेरियन’ ऑपरेशन का गंदा खेल होता है। जहां एक मरीज से चालीस हजार से लेकर पचास हजार तक ऐंठे जा रहे है। जिस रकम में बिचौलिए व गांव-गांव में फैल चुके दलाल का भी कमीशन होता है। इस गोरखधंधे में विभिन्न प्रकार के जांच घरों से अलग कमाई होती है। सूत्रों ने बताया कि गांव के भोले भाले गरीब लोगों को सफल प्रसव के नाम पर दलाल ऐसे नर्सिंग होम में मरीज को भर्ती कराते है। जहां प्रसव से पूर्व प्रसव पीड़ा को खत्म करने की सुई देकर, गर्भवती के जान से खिलवाड़ किया जाता है। सूत्रों ने बताया कि फिर, दर्द खत्म होने के बाद मरीज के परिजन जल्द सिजेरियन करा, अन्यथा, जच्चा-बच्चा को खतरा होने के नाम पर डराया जाता है। जब परिजन झांसे में आ जाते है तो उनसे एक फार्म जमा लेकर ऑपरेशन के जरिये प्रसव करा दिया जाता है। इस दौरान किसी गर्भवती महिला की स्थिति खराब हुई तो तुरंत डॉक्टर एम्बुलेंस से मरीज को रेफर कर दिया जाता है। मामला बिगड़ने पर मरीज के परिजन से मामला सलटा लिया जाता है। हालांकि, कुछ मामले अभी भी कोर्ट में है। बता दे कि इससे पूर्व भी सिविल सर्जन ने बेनीपट्टी के एक नर्सिंग होम के संचालक पर पचास हजार रुपये का जुर्माना किया है। चिकित्सा पदाधिकारी डॉ शम्भू नाथ झा ने बताया कि नोटिस जारी करने के बाद भी अगर कोई संस्थान संचालित पाया गया तो ऐसे नर्सिंग होम व जांचघर के खिलाफ वरीय अधिकारी को कार्रवाई के लिए रिपोर्ट की जाएगी।




Post a Comment

0 Comments