Ticker

6/recent/ticker-posts

आयुष लाइफ केयर के कागजातों को जांच टीम ने खंगाला

 


बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी में फर्जी हॉस्पिटल की शिकायत पर गुरुवार की देर शाम स्वास्थ विभाग की जांच टीम ने कटैया रोड में संचालित आयुष लाइफ केयर नर्सिंग होम की जांच की। सिविल सर्जन के निर्देश पर डॉ. विनोद कुमार के नेतृत्व में तीन सदस्यीय टीम ने किए गये शिकायत के आधार पर बिंदुवार जांच की। अधिकारियों की टीम ने केयर सेंटर के संचालक से संचालन संबंधित अनुज्ञप्ति आदि कागजातों की मांग की। टीम ने चिकित्सक कक्ष, पंजीयन पंजी, इंट्रुमेंट की उपलब्धता, मरीजों के ठहराव की व्यवस्था, ओपीडी संचालन संबंधित जानकारी और चिकित्सकों का रोस्टर की जानकारी ली। टीम ने पूछा कि कितने चिकित्सक के द्वारा इलाज कराये जाते हैं और चिकित्सकों की प्रामाणिकता संबंधित जानकारी ली। उन्होंने केयर सेंटर संचालन से संबंधित प्राधिकार पत्र की मांग की तो संचालक ने पत्र उपलब्ध कराया। जांच टीम के अधिकारियों ने बताया कि संस्था के पास रजिस्ट्रेशन है लेकिन अन्य कागजातों की मांग की गयी है। जो जांच के दौरान उपलब्ध नहीं कराई गई है। सभी कागजात को उपलब्ध कराने का तय समय निर्धारित कर दिया गया है। निर्धारित समय तक कागजात नहीं दिए जाने के बाद कार्रवाई के लिए सिविल सर्जन को रिपोर्ट किया जाएगा। जांच के दौरान शिकायतकर्ता बेनीपट्टी के बुद्धिनाथ झा के साथ हॉस्पिटल के कर्मियों ने बदसलूकी कर माहौल को खराब करने का प्रयास किया। हालांकि, जांच टीम के द्वारा हस्तक्षेप करने पर मामला शांत हो पाया। शिकायतकर्ता ने बताया कि उक्त हॉस्पिटल के द्वारा गलत तरीके से सर्जरी की जाती है। गत वर्ष जब स्थानीय स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जांच की गई तो उक्त समय किसी अन्य के नाम पर हॉस्पिटल का संचालन हो रहा था। जिसे बंद करने के निर्देश के बाद उसी हॉस्पिटल को आयुष लाईफ केयर का नाम देकर संचालन कर दिया गया। वहीं सर्जरी मामलों से संबंधित कागजातों को उपलब्ध कराने के लिये समय दिया गया है। वहीं टीम में सिविल सर्जन कार्यालय के मेडिकल ऑफिसर डॉ. सुबोध कुमार और राकेश कुमार भी शामिल थे। इधर, टीम द्वारा जांच के लिये पहुंचने के बाद बेनीपट्टी में संचालित नर्सिंग होम में हड़कंप मच गयी।



Post a Comment

0 Comments