बेनीपट्टी (मधुबनी)। प्रखंड के बनकट्टा पंचायत में अवस्थित बछराजा नदी पर निर्मित पुल के ध्वस्त हुए करीब पांच वर्ष से अधिक हो जाने के बाद भी पुल निर्माण की पहल नहीं की जा रही है। जबकि उक्त पुल से रोजाना हजारों लोग आवाजाही करते है। करीब पांच वर्ष पूर्व ग्रामीण कार्य विभाग ने उक्त स्थल पर विभागीय दिशा-निर्देश संबंधित बोर्ड लटका कर खेद प्रकट कर पुल निर्माण करना ही भूल गया। जिसका खामियाजा इस पथ से भारी वाहन के प्रयोग करने वाले आज तक भुगत रहे है। पुल के जर्जरता के कारण करीब पांच वर्ष से उक्त पुल से भारी वाहन के आवाजाही पर रोक है। रात के अंधेरे में बिना बोर्ड देखे आवाजाही न हो, इसके लिए विभाग की ओर से पुल के उपर दिवाल (अवरोधक) का निर्माण करा दिया गया है। पुल के ध्वस्त होने पर तरह-तरह की चर्चाएं ग्रामीणों की ओर से की गयी, लेकिन पुल की वास्तिवक स्थिति ये है कि पुल धीरे-धीरे नदी की ओर झूक रहा है। कब कोई बड़ी दुर्घटना हो जाए, कहना मुश्किल है। ग्रामीणों की माने तो विभाग को अविलंब पुल को तोड़ कर पुनः निर्माण की प्रक्रिया प्रारंभ कर देनी चाहिए। जानकारी दें कि उक्त पथ सह पुल से बेनीपट्टी प्रखंड के लोगों को बिस्फी प्रखंड से जोड़ने का काम करती है। वहीं दामोदरपुर, बलिया, अंधरी, मानसीपट्टी सहित कई गांवों को जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है। उक्त पथ से आवाजाही करने में कम ही समय में लोग आसानी से बिस्फी प्रखंड मुख्यालय पहुंच पाते है। पांच वर्षों से उक्त नदी पर पुल के निर्माण नहीं होने से कई राजस्व गांव के लोग प्रभावित हो रहे है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here


Previous Post Next Post