बेनीपट्टी को नगर पंचायत का दर्जा मिलने को लेकर बेनीपट्टी के नवनिर्वाचित विधायक व पूर्व मंत्री विनोद नारायण झा का दावा खोखला निकला। सीएम नीतीश कुमार की कैबिनेट ने आज बिहार में 103 नए नगर पंचायत की घोषणा कर दी है, जिसमें बेनीपट्टी का नाम नहीं है। मधुबनी जिले से एक मात्र फुलपरास क्षेत्र को नगर पंचायत का दर्जा मिला है। इधर बेनीपट्टी क्षेत्र को नगर पंचायत का दर्जा नहीं मिलने से लोगों की उम्मीदों पर पानी फिर गया है, आम जनों में मायूसी है

बता दें कि लंबे समय से बेनीपट्टी को नगर पंचायत का दर्जा देने की मांग स्थानीय स्तर पर होती रही है। 2010 के विधानसभा चुनाव के बाद से लगातार यह मांग बेनीपट्टी की प्राथमिक मुद्दों में शामिल रहा है। 2010 विधानसभा चुनाव में जब बीजेपी नेता विनोद नारायण झा बेनीपट्टी सीट से चुनावी मैदान में आये  तो बेनीपट्टी को नगर पंचायत का दर्जा चुनावी मुद्दों में शामिल था। इस चुनाव में उन्हें अच्छी जीत मिली, जिसके बाद लोगों की उम्मीदें इनसे बंध गई। समय-समय पर मीडिया के माध्यम से यह खबर आती रही कि बेनीपट्टी को नगर पंचायत का दर्जा जल्द मिलने वाला है। इसी कड़ी में विनोद नारायण झा के विधायक बनने के दो साल बाद 2012 में बेनीपट्टी को नगर पंचायत का दर्जा मिलने की झूठी खबरें फैलाई गई। इस झूठी खबर के आधार पर बीजेपी के नेताओं ने मिठाई व बधाईयाँ भी बांटी।

2012 में छपी खबर 

देखते ही देखते बेनीपट्टी सीट से विनोद नारायण झा का पहला पंचवर्षीय कार्यकाल बीत गया, लेकिन नगर पंचायत का दर्जा नहीं मिला। फिर 2015 का विधानसभा चुनाव आया, जिसमें बीजेपी के उम्मीदवार विनोद नारायण झा को हार का सामना करना पड़ा। हालांकि चुनाव में हार के बावजूद भी पार्टी ने उन्हें एमएलसी बनाया। जिसके कुछ दिन बाद ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ जदयू का खेमा बीजेपी में शामिल हो गया और बिहार में एनडीए की नई सरकार बन गई। इस नई सरकार की कैबिनेट में विनोद नारायण झा को मंत्री बनाया गया। जिसके बाद बेनीपट्टी के लोगों को मंत्री 
विनोद नारायण झा से अधिक उम्मीदें जुड़ गई। लेकिन मंत्री कार्यकाल में भी विनोद नारायण झा बेनीपट्टी को नगर पंचायत का दर्जा दिलवाने में असफल रहे। इस दौरान भी मीडिया में यह खबरें अक्सर छपती रही कि बेनीपट्टी को नगर पंचायत का दर्जा दिलाने के लिए विनोद नारायण झा लगे हुए हैं। जो कि हाल तक मीडिया में खबर छपने का सिलसिला जारी है

27 मई को मीडिया में छपी खबर
27 मई को मीडिया में छपी खबर

साल आया 2020 बिहार विधानसभा चुनाव का। चुनाव के समय भी उन्होनें मीडिया के सामने दावे के साथ कहा कि एनडीए की सरकार में बेनीपट्टी को जल्द ही नगर पंचायत का दर्जा मिलने जा रहा है। विनोद नारायण झा के इस दावे के कुछ समय बाद ही चुनाव की तारीखों का एलान हुआ। बीजेपी ने फिर से बेनीपट्टी सीट से विनोद नारायण झा को टिकट दिया, चुनाव परिणाम में उन्होंने अपने पिछले सारे रिकॉर्ड को तोड़ काफी अधिक मतों से जीत हासिल किया। जिसके बाद बिहार में बनीं नीतीश कुमार की नई सरकार से बेनीपट्टी के आम जनों की उम्मीदें बढ़ गई थी। बढ़ी हुई उम्मीद की वजह विनोद नारायण झा भी थे, जो कि पिछली सरकार में नीतीश सरकार के मंत्री थे। ऐसे में विनोद नारायण झा के बढ़े राजनितिक कद को देखते हुए संभावना प्रबल मानी जा रही थी कि इस बार बेनीपट्टी को नगर पंचायत का दर्जा मिल ही जायेगा, लेकिन विनोद नारायण झा का बढ़ा हुआ राजनितिक कद भी बेनीपट्टी को नगर पंचायत का दर्जा दिलाने में नाकाम रहा।

21 मार्च को मीडिया में छपी खबर

बेनीपट्टी कार्यक्षेत्र में रहते हुए 2010 में विधायक, फिर एमएलसी, फिर मंत्री उसके बाद पुनः विधायक निर्वाचित होने के बावजूद भी पूर्व मंत्री व विधायक विनोद नारायण झा अब तक बेनीपट्टी को नगर पंचायत का दर्जा नहीं दिलवा सके। ऐसे में यह कहने में कोई अतिशयोक्ति नहीं है कि बेनीपट्टी को नगर पंचायत का दर्जा दिलाने के विषय पर विनोद नारायण झा के दावे अब तक खोखले साबित हुए हैं।


क्या कहते हैं बेनीपट्टी विधायक विनोद नारायण झा ?

कैबिनेट के आज के फैसले पर जब बेनीपट्टी विधायक व पूर्व मंत्री विनोद नारायण झा से बेनीपट्टी को नगर पंचायत का दर्जा नहीं मिलने पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह प्रयास में लगे हुए थे, उम्मीद थी कि दर्जा मिल जाएगा। लेकिन मापक पैमाने में कुछ कागजात की कमी के कारण बेनीपट्टी का नाम बिहार के नवगठित नगर पंचायतों की सूची में नहीं आ सका है हम अभी भी प्रयास में लगे हुए हैं


फुलपरास बना नगर पंचायत, मधुबनी को नगर निगम का दर्जा

बता दें कि मधुबनी जिले में एक मात्र फुलपरास को नए नगर पंचायत का दर्जा मिला है, जबकि बेनीपट्टी के बाद फुलपरास को अनुमंडल का दर्जा मिला था। बावजूद भी बेनीपट्टी को नगर पंचायत का दर्जा नहीं मिल सका। सीएम नीतीश कुमार की कैबिनेट ने 103 नए नगर पंचायतों के अलावे  8 नए नगर परिषद, व 32 नगर पंचायत को नगर परिषद में, व 12 नगर निकाय को भी अपग्रेड करने का निर्णय लिया है। वहीं पांच नगर परिषद को नगर निगम का दर्जा मिला है। जिसमें मधुबनी भी नगर निगम में शामिल है, जो कि पहले मधुबनी को नगर परिषद का दर्जा प्राप्त था

बेनीपट्टी नगर पंचायत


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post