बेनीपट्टी(मधुबनी)। जनप्रतिनिधियों के चुप्पी से अब तक बेनीपट्टी मुख्यालय में बस पड़ाव का फाईल अटका रह गया। जिसके कारण आज भी बेनीपट्टी में सड़क पर भारी वाहन खड़ी की जाती है। जिससे आये दिन बाजार में जाम की समस्या होती है। वहीं जनप्रतिनिधियों व प्रशासनिक अधिकारियों के लापरवाही के कारण चिन्ह्ति बस पड़ाव स्थल का सरकारी जमीन भी धीरे-धीरे अतिक्रमण का शिकार हो रहा है। जिस पर किसी भी महकमा का ध्यान नहीं जा रहा है। एक तरफ जहां बेनीपट्टी के विकास के बड़े-बड़े दावे किए जाते रहे है। वहीं अनुमंडल का दर्जा प्राप्त बेनीपट्टी में बस पड़ाव का अब तक न होना, विकास के झूठे दावों की पोल खोल रही है। अब चुनाव के समीप आते ही स्थानीय लोगों ने बस पड़ाव के मुद्दे को लेकर सवाल करना शुरु कर दिए है। लोगों की माने तो बेनीपट्टी अनुमंडल मुख्यालय के साथ प्रखंड मुख्यालय भी है। इसी अनुमंडल के मधवापुर समेत अन्य प्रखंड में बस पड़ाव है, लेकिन, बेनीपट्टी में अभी भी बस पड़ाव का निर्माण नहीं हुआ। गौरतलब है कि बेनीपट्टी में बस पड़ाव के निर्माण के लिए पूर्व एसडीएम अबुल हसन के कार्यकाल से ही प्रयास किया जा रहा है। पूर्व एसडीएम राशिद कलीम अंसारी, आईएएस अधिकारी मिथिलेश मिश्र व आईएएस अधिकारी राजेश मीणा ने भी सकारात्मक प्रयास किए। बस पड़ाव की समस्या पर दो वर्ष पूर्व दरभंगा प्रक्षेत्र के आयुक्त के द्वारा तीन सदस्यीय टीम का गठन किया गया, जिसे बस पड़ाव के संबंध में रिपोर्ट देनी थी, लेकिन, उक्त रिपोर्ट के बाद भी कोई कार्रवाई अब तक नहीं हुई है। जिसके कारण बस पड़ाव का मसला आज भी अनसुलझा हुआ है। 


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post