2012 में हुए प्रीति प्रशांत प्रेम प्रसंग, मधुबनी गोलीकांड के दौरान तत्कालीन एसएसपी सौरभ कुमार और नगर थानाध्यक्ष लक्ष्मण प्रसाद पर मधुबनी गोलीकांड के मुख्य आरोपी प्रशांत झा ने गंभीर आरोप लगाए हैं। प्रशांत ने BNN न्यूज़ को दिए इंटरव्यू में कहा है कि प्रीति के पिता जगतपति चौधरी ने तत्कालीन एसएसपी सौरभ कुमार और नगर थानाध्यक्ष लक्ष्मण प्रसाद को 10 लाख रुपये दिए थे। ताकि, उसे यानी प्रशांत झा को मिलते ही पूरी तरह शरीर का एक एक हड्डी तोड़कर जेल भेजा जाए या फिर उसे एनकाउंटर में मार दिया जाए।

1

प्रशांत ने कहा कि यदि मधुबनी में इतना बड़ा कांड नहीं होता, यदि ककना पुल के नीचे सिर कटी लाश नहीं मिली होती तो जगतपति चौधरी और पुलिस प्रशासन अपने मंसूबों में कामयाब हो जाते। पुलिस प्रशासन को लेकर प्रशांत के अंदर काफी नाराजगी दिखी। 

2

प्रशांत ने इंटरव्यू के दौरान कहा कि जेल में कैदी के साथ पुलिस का व्यवहार भी इस बात पर निर्भर करता है कि सामान्य अपराधी व्यक्ति जेल से बाहर आने के बाद सुधरता है या बड़ा अपराधी बन जाता है। आगे प्रशांत ने इस घटनाक्रम में मौत का शिकार हुए निशांत का जिक्र करते हुए कहा कि जिस तरह से पुलिस ने 11वीं में पढने वाले बच्चे को पकड़कर सिर इस इस पर से उस पार बंदूक सटा के गोली मार दी, क्या था यह ? क्या यही न्याय है ?



आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here


ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post