बेनीपट्टी(मधुबनी)। देश भर में दरभंगा की पहली हवाई सेवा का परिचालन सुनिश्चित करने वाले महाराज को सम्मान अवश्य मिलना चाहिए। केन्द्रीय उड्डयन मंत्री से दरभंगा एयरपोर्ट का नामकरण दरभंगा महाराज कामेश्वर सिंह के नाम पर करने की मांग करते हुए मिथिला लोकतांत्रिक मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज झा ने कहा है कि महाराजाधिराज ने आजादी के पूर्व से संचालित अपने इस एयरपोर्ट को भारत चीन युद्ध के समय में भारत सरकार को समर्पित कर दिया था। दरभंगा महाराज देश के संविधान सभा के सदस्य भी थे और उन्होंने अपनी अकूत संपत्ति देशहित और जन कल्याणकारी कार्यों के लिए समर्पित भी कर रखा है। जिसका लाभ आम जनों को हमेशा से मिलता आ रहा है। सरकार केवल महाराज की संपत्ति को अधिग्रहण मात्र करने लिए नहीं है और सरकार को दरभंगा महाराज और मिथिला के प्रति कृतज्ञता दर्शाने के लिए आगे आना चाहिए। मनोज झा ने कहा है कि दरभंगा महाराज की जमीन पर बहुत सारी जनोपयोगी संस्थान आदि संचालित हैं और अगर ये नहीं होता तो आमजनों को विभिन्न प्रकार की कठिनाईयों का सामना करना पड़ता। इतना ही नहीं अगर महाराज की संपत्ति उपलब्ध नहीं होती तो इन सब संस्थानों का संचालन हम मिथिलावासियों के लिए दिवास्वप्न ही रहता। मिथिला के विमानन इतिहास पर बात करते हुए मोर्चा के अध्यक्ष ने कहा कि हमें इस बात पर गर्व करना चाहिए कि दरभंगा महाराज के बल पर ही हमारा विमानन इतिहास गौरवशाली और उन्नत रहा है। 


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post