Ticker

6/recent/ticker-posts

बर्री : घर में कैद रहने को विवश, नहीं है नाव की सुविधा

बेनीपट्टी(मधुबनी)। अधवारा समूह के सहायक ककुरा व धौंस नदी के जलप्रलय से बर्री पंचायत पूरी तरह से घिर चुका है। पंचायत के लोगों को मुख्य पथ पर आना तो दूर एक-गांव से दूसरे गांव जाना भी मुश्किल बना हुआ है। पंचायत के सिरवारा, रजघट्टा, माधोपुर, रजिया, बाजितपुर, फुलबरिया, बाणेश्वर स्थान समेत अन्य गांव पूरी तरह से बाढ़ के चपेट में है। वहीं फुलबरिया से रजिया, बर्री से बाणेश्वर स्थान, चानपुरा से धनुषी, शिवनगर से माधोपुर की आवाजाही बंद है। सभी रास्तों पर कई फीट पानी का बहाव हो रहा है। प्रशासन के द्वारा अब तक पंचायत में सरकारी नाव का परिचालन शुरु नहीं कराया गया है। जिसके कारण लोगों में आक्रोश है। लोगों ने बताया कि सरकारी नाव के परिचालन नहीं होने से लोग गांव में कैद हो कर रह गए है। लोगों को दैनिक वस्तुओं के खरीद की समस्या के साथ नकदी की समस्या भी उत्पन्न हो रही है। हालांकि, सीएसपी सेंटर संचालक रमेश कुमार मिश्र के द्वारा किसी तरह से समस्या का तत्काल समाधान किया जा रहा है। गांव के मुकेश मिश्र, श्याम नंदन मिश्र, उप मुखिया राहुल कुमार मिश्र, पूर्व पंसस अनिल मंडल, वार्ड सदस्य बिलट सहनी, तेजी मंडल, हरिनंदन राम समेत कई लोगों ने बताया कि बाढ़ के पानी से घिरा होने के कारण लोगों की समस्याएं बढ़ गई है। कोई देखने वाला नहीं है। कई घर गिर गए है। जो इधर-उधर भटक कर रात गुजार रहे है। ग्रामीणों ने बताया कि पूरा पंचायत गत पांच दिनों से पानी से घिरा हुआ है, लेकिन कोई देखने तक नहीं आया है। इस संबंध में अंचलाधिकारी प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि सरकारी नाव गत बाढ़ में मुखिया को दी गई थी। उसे पत्र भेजकर भुरका के पास लगाने को कहा गया है। जल्द ही समस्या का निदान हो जाएगा।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here

Post a Comment

0 Comments