Ticker

6/recent/ticker-posts

15 जून के अल्टीमेटम के बाद भी करीब डेढ़ सौ जल नल योजना अधूरा

बेनीपट्टी(मधुबनी)। सीएम सात निश्चय योजना के जल नल योजना फलीभूत नहीं हो रही है। प्रशासनिक अल्टीमेटम के बाद भी सैकड़ों जल नल योजना अधूरा ही रह गया। कई वार्डों में राशि का उठाव किए जाने के बाद भी धरातल पर कोई कार्य नहीं हुआ। जिससे योजना में अनियमितता स्पष्ट रुप से सामने आ रहा है। खास तौर पर बेनीपट्टी के अकौर, बर्री, समदा, मेघवन, करहारा आदि कई पंचायतों की स्थिति अत्यंत खराब है। अकौर में तो कई वार्ड सदस्य के द्वारा ठेकेदार को अग्रिम राशि का भुगतान बिना कार्य के ही दे दिया गया है। अब आलम ये है कि ठेकेदार राशि का अग्रिम भुगतान लेकर वार्ड सदस्य का कॉल भी नहीं उठा रहा है। बता दे कि जल नल योजना को पूर्ण करने के लिए जिला पंचायती राज पदाधिकारी, एसडीएम समेत अन्य अधिकारियों ने पंद्रह जून का अंतिम अल्टीमेटम दिया था। बताया जा रहा है कि अल्टीमेटम के बाद भी कई वार्डों में योजना पूर्ण करने की कोई सुगबुगाहट नहीं देखी गई। कुछ वार्डों में कछुआ गति से कार्य प्रारंभ ही किया गया। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार प्रखंड के करीब 375 वार्डो में सीएम सात निश्चय योजना से जल नल योजना संचालन करना था। वहीं अन्य कुछ पंचायतों में पीएचईडी विभाग के द्वारा जल नल योजना की जा रही है। अकौर के पंचायत समिति सदस्य त्रिभुवन चौधरी, समाजसेवी आनंद झा आदि ने बताया कि उनके पंचायत के कई वार्डो में भारी अनियमितता की गई है। वार्ड सदस्य के द्वारा अग्रिम राशि की निकासी की गई है। जिसकी शिकायत बीडीओ से की गई, लेकिन जांच तो दूर अब तक कोई पहल तक नहीं की गई है। उधर, सूत्रों की माने तो अधिकारियों, पंचायत प्रतिनिधियों, वार्ड विकास समिति व ठेकेदार के चौकड़ी में योजना मजाक बनकर रह गया है। बीपीआरओ गौतम आनंद ने बताया कि जहां योजना पूर्ण नहीं हुई है। वहां नोटिस की जाएगी। विभाग से दिशा-निर्देश प्राप्त होने के बाद कोई कार्रवाई की जाएगी।

Post a comment

0 Comments