Ticker

6/recent/ticker-posts

कोरोना में मानवता की मिसाल पेश कर रहे नजरा के युवक

बेनीपट्टी(मधुबनी)। इस महामारी में जहां हर कोई अपने को लेकर परेशान हैं वहीं कुछ युवा हैं जो सेवा की मिसाल पेश कर रहे हैं। संकट की इस घड़ी में, बेनीपट्टी के मेघवन पंचायत के नजरा गांव निवासी तफ़्सीर आलम ज़ीशान जावेद, तौसीफ मुस्तफा व इकबाल हसन ये वो युवा है जिन्होंने लॉकडाउन के शुरुआती दिनों से ही अपने ब्लॉक के गांव-गांव घूम कर माइक से लोगों को जागरूक कर रहे हैं और लॉकडाउन को अपनाने के लिए लोगों से अपील कर प्रशासन का सहयोग कर रहे हैं। अब इनलोगों ने अपने गांव और आसपास के जरूरतमंदों को चिन्हित कर उनके बीच राशन सामग्री वितरण का काम भी शुरू कर दिया है। आपको ये जानकर हैरत होगी कि ये सारा काम वो लोग खुद के पैसे से कर रहे हैं। भला इस मुश्किल घड़ी में जहां हर कोई अपनी हिफाज़त के लिए अपने घरों से निकलना मुनासिब नही समझते ये नौजवान लगे हुए हैं समाज सेवा में। पूछने पर बताते हैं कि हम सब लोग इंजीनियर हैं और इस लॉकडाउन के कारण गांव में फंस गए हैं और अब जबकि इंसानियत के नाते सेवा का मौका मिला है तो कैसे छोड़ दें। जहां तक हो सकता है अपने गांव समाज और आस पड़ोस के लिए करेंगे। जब उनसे इसमे होने वाले खर्चो के बारे में पूछा गया तो वो बताते हैं कि ज्यादातर खर्च हमलोग खुद के पैसे जमा कर के करते हैं यहां तक कि जागरूकता अभियान में घूमने के लिए गाड़ी में तेल भी खुद के पैसे से डलवाते है पर अब हमारे काम को देख कर हमारे गांव के कुछ लोग इसमे शामिल हों कर हमारी मदद करना चाहते है। ऐसे में कहा जा सकता है की ये युवा वाक़ई में देश के लिए कुछ करने का जज़्बा रखते हैं, ये हमारे समाज के धरोहर है जिनकी प्रशंसा की जानी चाहिए और हर क़दम पे इनकी सहायता के लिए तैयार रहनी चाहिए।

Post a comment

0 Comments