बेनीपट्टी(मधुबनी)। बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के तत्वावधान में नियोजित शिक्षकों ने गुरुवार को प्रखंड सह अंचल कार्यालय परिसर में धरना दिया। अध्यक्षता आशीष नारायण झा ने की। जबकि धरना का संचालन मो. मकसूद आलम व कविन्द्र दत्त ने किया। धरना को संबोधित करते हुए राकेश कुमार चौधरी ने बिहार सरकार के दोहरी नीति का भर्त्सना करते हुए कहा कि बिहार के चार लाख नियोजित शिक्षकों ने अपनी मांग के प्रति राज्यव्यापी हड़ताल पर गत 17 फरवरी से ही है। सूबे के सभी विद्यालयों में पठन-पाठन बंद है। बावजूद सरकार अब तक कोई निर्णय नहीं कर सकी है। वहीं मो. मकसूद आलम ने कहा कि सभी शिक्षक एकजुटता के साथ समान काम के बदले समान वेतन की लड़ाई लड़ने तथा सात सूत्री मांग के पूर्ति तक डटे रहने, बिहार सरकार के धमकी से निर्भिक रहने, पटना में बिहार सरकार के द्वारा शांतिपूर्ण कार्यक्रम कर रहे शिक्षकों पर पुलिसिया लाठी चार्ज करवाने एवं प्राथमिकी कराने की निंदा करते है। वक्ताओं ने कहा कि जब तक सरकार उनकी मांग पर निर्णय नहीं लेती है और प्राथमिकी वापस नहीं लेती है, तब तक आन्दोलन जारी रहेगा। धरना को अनिल साफी, संतोष झा, प्रवीण कुमार, विजय साफी, पवन मंडल, गुड़िया कुमारी, सीमा खातुन, मनोज पूर्वे, देवचन्द्र साफी, अशोक राम, मनोज कामत, अजित ठाकुर, सुभाष कुमार, लाल पासवान, शीला देवी, राधारमण साह, कमलेश कुमार, विनोद यादव, रविन्द्र झा, अर्जुन पासवान आदि थे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post