बेनीपट्टी(मधुबनी)। पर्यावरण की रक्षा करने के लिए युवाओं को आगे आने की जरुरत है। जब तक युवा शक्ति सृष्टि की रक्षा के लिए आगे आकर वृक्षारोपण के प्रति लोगों को प्रेरित नहीं करेंगे, तब तक ये अभियान पूर्णरुप से सफल नहीं हो सकता है। युवाओं को अब समझना होगा कि पर्यावरण की रक्षा करने में ही भलाई है। कल-कारखाना व अंधाधूध वृक्षों की कटाई के कारण प्रदूषण का स्तर बढ़ रहा है। हवा में जहर घुल रहा है। जिससे बचने के लिए सभी मनुष्य को वृक्षारोपण करना चाहिए। गुरुवार को वन महोत्सव कार्यक्रम के तत्वावधान में वन विभाग की और से लगाए जा रहे वृक्षारोपण के प्रति लोगों को प्रेरित करते हुए एसडीपीओ पुष्कर कुमार ने बसैठ के कृषि विज्ञान केन्द्र पर युवाओं को संबोधित करते हुए कहा। एसडीपीओ ने कहा कि कुछ वर्ष पूर्व जब तक जंगल का असतित्व बचा हुआ था, नदियां प्रदूषित नहीं थी, तब तक सब कुछ सही हो रहा था। मानसून इस तरह होता था कि किसान आसानी से बारिश के पानी से खेती कर पाते थे। अब प्रदूषण के कारण स्थिति विकट हो चुकी है। एसडीपीओ ने कहा कि एक वृक्ष हमारे लिए सौ पुत्रों के समान है। मानसूनी बारिश भी प्रभावित हो रही है। वहीं उप प्रमुख अशोक कुमार चौधरी ने कहा कि कृषि विज्ञान केन्द्र के द्वारा किसानों को वृक्षारोपण के लिए हमेशा प्रेरित किया जाता है। वहीं श्री चौधरी ने कहा कि वृक्ष ही हमारे असली धरोहर है। जो हमें हर संकट से रक्षा कर सकते है। लोगों को अपने जीवन काल में अवश्य वृक्षारोपण कर दूसरे आदमी को भी प्रेरित करना चाहिए। वन महोत्सव के तहत कृषि विज्ञान केन्द्र के स्टॉफ क्वार्टर के परिसर में विभाग की और से करीब एक सौ वृक्ष लगाए गए। जिसमें छायादार के साथ फलदार वृक्ष थे। मौके पर कृषि वैज्ञानिक मंगलानंद झा, कृषि वैज्ञानिक प्रमोद कुमार, अरविन्द कुमार, भास्कर चौधरी समेत कई लोगों ने वृक्षारोपण किए।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post