Ticker

6/recent/ticker-posts

व्यवसायी विवाद में दहशत फैलाने की थी अपराधियों की योजना

बेनीपट्टी (मधुबनी)। प्रॉपटी विवाद को लेकर दहशत फैलाने की योजना के तहत विश्वनाथ हाथी एवं उसके पुत्र सुजीत कुमार ने पटना के अपराधियों को हायर किया था। घटना के समय विश्वनाथ हाथी, सुजीत कुमार व अन्य अपराधी मौके पर पहुंच कर मोती प्रधान को चिन्ह्ति करा कर अपराधी पुनीत विंद को गोली मारने को कहा था। मोती प्रधान एवं जाले थाना के लतराहा गांव के विश्वनाथ हाथी के बीच ईंट उद्योग एवं पेट्रोल पंप को लेकर विवाद चल रहा था। जिसको लेकर विश्वनाथ हाथी ने अपराधियों से सांठ-गांठ कर मोती प्रधान पर जानलेवा हमला करने के लिए बुलाया था। एसडीपीओ पुष्कर कुमार ने मोती प्रधान पर हुए जानलेवा हमला के मामले का उद्भेदन करते हुए बेनीपट्टी थाना पर प्रेस को संबोधित करते हुए कहा। एसडीपीओ ने बताया कि ग्रामीण पुलिस के सहयोग से धराए अपराधी पुनीत विंद, जो शातिर अपराधी होने के साथ सुपारी लेकर हत्याएं करने का काम करता था। पुलिस के द्वारा किए गए पूछताछ के बाद अपराधी ने घटना की सारे रहस्य को उजागर कर दिया है। एसडीपीओ ने बताया कि विश्वनाथ हाथी व उसके पुत्र सुजीत कुमार हाजीपुर के धनरुआ गांव के अपराधी लालजी विंद एवं गया जिले के खिजरसराय के बिरजा विंद से मोती प्रधान पर जानलेवा हमला करने के लिए हायर किया। जिसके बाद लालजी विंद ने पटना के शातिर अपराधी पुनीत विंद को ये काम करने का जिम्मा सौंपा। घटना की सुबह लालजी विंद व विश्वनाथ हाथी का पुत्र सुजीत पुनीत को लेकर गांव में जाकर रेकी कराया था। रेकी कराने के बाद घटना को अंजाम देने के लिए बारह हजार रुपये तय कर दिए गये थे। जिसके लिए एडवांस के तौर पर पुनीत को दो हजार रुपये दिए गये थे। पुलिस के गिरफ्त में धराए अपराधी ने घटना में अपनी संलिप्तता कबूल करते हुए बताया कि रेकी करने के बाद वो लगातार बेनीपट्टी में ही था। शाम में शराब का सेवन कर हमला करने के लिए महमदपुर पहुंच गया। जहां गोली चलाने के बाद भागने के क्रम में ग्रामीण पुलिस ने धर-दबोचा। एसडीपीओ ने बताया कि पुनीत विंद ने अपने बयान में घटना के सारे पोल खोल दिए है। एसडीपीओ ने बताया कि मोती प्रधान का बहनोई विश्वनाथ हाथी से प्रॉपटी , ईंट व्यवासाय एवं पंप को लेकर अदावत चल रही थी। उधर पुलिस ने मोती प्रधान के फर्दब्यान के आधार पर खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। वहीं पुनीत विंद पर शराब के नशे में होने के कारण एक्साईज अधिनियम एक्ट भी लगाया गया है। मौके पर सर्किल इंस्पेक्टर प्रवीण कुमार मिश्रा, एसएचओ सह पुलिस निरीक्षक हरेराम साह, रामप्रवेश राय समेत कई पुलिस मौजूद थे। एसडीपीओ ने बताया कि विश्वनाथ हाथी, सुजीत कुमार, लालजी विंद, बिरजा विंद के गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। जल्द ही अन्य आरोपियों को दबोच लिया जाएगा।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here

Post a Comment

0 Comments