Ticker

6/recent/ticker-posts

फर्जी निकासी मामले के सूत्रधार समेत मुखिया हुए भूमिगत

बेनीपट्टी (मधुबनी)। बेनीपट्टी पंचायत के विकास योजना की राशि के फर्जी निकासी के मामले के आरोपी प्राथमिकी दर्ज होते ही भूमिगत हो गये। मामले के मुख्य सूत्रधार रामबाबू यादव एक ओर जहां फर्जी निकासी का मामला उजागर होते ही गायब हो गया। सूत्रों की माने तो रामबाबू यादव कांड के पहले ही दिन नेपाल की शरण ले चुका है। वहीं अन्य आरोपी भी अब गायब हो गये। उधर पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए अनुसंधान तेज कर दी है। बैंक प्रबंधक से अनुसंधानकर्ता सह एसएचओ हरेराम साह ने निकासी हुए असली चेक की मांग की है। वहीं एसएचओ घंटो तक बैंक में रहकर कई कागजात को खंगाला। पुलिस अधिकारियों की माने तो पूरे मामले की गहन अनुसंधान की आवश्यकता है। पुलिस हर एंगल से मामले की छानबीन कर रही है, क्योंकि एक ओर जहां बैंक चेक पर हुए हस्ताक्षर को सही बता रही है, वहीं दूसरी ओर भूमिगत होने से पूर्व तक मुखिया व मुखियापति चेक पर किए गये हस्ताक्षर को पूर्णरुप से फर्जी बता रहे थे। ऐसे में पुलिस के पास उक्त चेक को जब्त कर एफएसएल से रिपोर्ट लेने के अलावे कोई विकल्प नहीं है। अब देखना है कि पुलिस को बैंक कब तक असली चेक उपलब्ध करा देती है। गौरतलब है कि वार्डो के विकास के लिए राज्य सरकार की ओर से आवंटित सात निश्चय योजना की करीब 80 लाख की राशि फर्जी तरीके से निकासी कर लेने का खुलासा पंचायत के सचिव शिवनारायण यादव ने गत आठ फरवरी को की। उधर प्रारंभिक जांच के बाद उक्त राशि अग्रोपट्टी के रामबाबू यादव के खाते पर ट्रांसफर करने एवं निकासी करने की बात सामने आयी। उधर सूत्रों की माने तो रामबाबू यादव ने कई बार भारी रकम भी चेक के माध्यम से ट्रांसफर करा ली। मामले की लिखित जानकारी देने के बाद पूरे प्रशासनिक हलकों में फर्जी निकासी को लेकर हड़कंप मच गया। जिलाधिकारी के निर्देश पर बीडीओ ने जांच कर रिपोर्ट दी, तो डीएम ने पूरे रिपोर्ट को देख बीडीओ को मुखिया विमल देवी, पंचायत सचिव, मुखियापति गनौर सदाय, रामबाबू यादव एवं बैंककर्मी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने का निर्देश दिया। इस संबंध में एसडीपीओ पुष्कर कुमार ने बताया कि सभी आरोपितों के गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर पूछताछ की जाएगी। उधर एसडीपीओ ने बताया कि पंचायत सचिव को भी जल्द तलाश करने का प्रयास किया जा रहा है।

Post a Comment

0 Comments