Ticker

6/recent/ticker-posts

बेनीपट्टी से कटैया जाना हुआ दुरुह, पथ की हालत जर्जर

बेनीपट्टी (मधुबनी)। ग्रामीण कार्य विभाग के लापरवाही एवं उदासीनता के कारण मुख्यालय का सबसे महत्वपूर्ण पथ उपेक्षा का शिकार  हो चुका है। बेनीपट्टी से कटैया को जाने वाली मुख्य पथ के जर्जरता के कारण आम लोगों के साथ रोजाना शिक्षा ग्रहण करने के लिए जा रहे छात्र-छात्राओं को परेशानी हो रही है। पथ की जर्जरता का आलम ये है कि करीब तीन किमी में सड़क का नामोनिशान तक नहीं बच पाया है। जगह-जगह उगे गड्ढों के कारण आये दिन बाईक सवार व अन्य वाहन दुर्घटना का शिकार हो रहे है।उक्त पथ को मोटरेबुल कराने को लेकर कई बार अधिकारियों ने संबंधित विभाग को निर्देश दिये, परंतु अब तक उक्त पथ का मोटरेबुल नहीं कराया जा सका है। जिसका खामियाजा लोगों को उठाना पड़ रहा है।गौरतलब है कि बेनीपट्टी के अधिकांश निजी क्लीनिक, निजी शिक्षण संस्थान, एक महाविद्यालय, बीआरसी, बेनीपट्टी का उच्च विद्यालय, प्रोजेक्ट कन्या विद्यालय प्लस टू, मध्य विद्यालय एवं कस्तुरबा आवासीय विद्यालय का संचालन इसी पथ के मध्य हो रहा है। जहां के कार्यों के लिए रोजाना छात्र व अभिभावक इस पथ का उपयोग करते है।वहीं कटैया, अंधरी, गंगूली, तिसी नरसाम,बलिया सहित एक दर्जन से अधिक गांव को जोड़ने में परस्पर भूमिका अदा करने वाली सड़क की खस्ताहाल से लोग किस कदर परेशान होंगे, ये अंदाजा लगाना सहज है। स्थिति इस कदर खराब है कि शाम ढलते ही लोग उक्त पथ से आवाजाही बंद कर देते है। प्रमुख सोनी देवी, राजद प्रखंड अध्यक्ष राजेश यादव, मत्स्यजीवी सहयोग समिति के अंचल मंत्री सुधीर सहनी, पंकज कुमार सहित कई लोगों ने बताया कि पथ सिर्फ नाम के लिए रह गया है। वहीं राजद अध्यक्ष ने बताया कि एक तरफ सरकार विकास के नाम पर सड़क निर्माण का ढिंढोरा पीट रही है, वहीं दूसरी ओर इस पथ की खस्ताहाल, विकास के मायने लोगों को बताने का काम कर रही है। जानकारी दें कि करीब पांच वर्ष पूर्व बेनीपट्टी के इंदिरा चौक से कटैया मोड़ तक सड़क का निर्माण कराया गया था। जहां पथ निर्माण में कालीकरण का कार्य कराया गया । सड़क के दोनों भागों में नाला का निर्माण अथवा छोटी पुल का निर्माण नहीं होने के कारण बरसात के मौसम में पानी उक्त सड़क पर जम जाता था। जिसके कारण सड़क निर्माण के कुछ ही सालों के अंदर टूटना प्रारंभ हो गया। उधर स्थानीय लोगों ने विभागीय अधिकारी से जल्द ही उक्त सड़क की सुध लेकर निर्माण कार्य की पहल करने की मांग की है। लोगों ने बताया कि निर्माण की पहल जल्द नहीं हुई तो वे लोग आन्दोलन करेंगे।

Post a Comment

0 Comments