Ticker

6/recent/ticker-posts

जिला परिषद् के खेल में फेल हो रहे दिग्गज महारथी

बेनीपट्टी(मधुबनी)। कन्हैया मिश्रा : त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तमाम दिग्गज इस पंचायत चुनाव के मतदाताओं के मिजाज को शायद समझ ही नहीं पाये।मुखिया व पंचायत समिति के पद के साथ ही इस चुनाव में जिला परिष्द सदस्य के चुनाव में भी बदलाव की बयार खुब देखने को मिल रही है।वहीं बेनीपट्टी के एक अन्य जिप क्षेत्र के चुनाव परिणाम आने शेष है,लेकिन क्षेत्र संख्या-05, 06,07 में बदलाव की धमक देखने को मिल रही है।वहीं इन क्षेत्र के दिग्गज महारथी चारों मुंख खाने पडे है।क्षेत्र संख्या-05 से राजनीति की ककहारा सीखने वाली खुशबु कुमारी करीब तीन हजार मत के अंतराल से जीत कर बदलाव की पहली शुरुआत कर दी।चुनाव से कुछ दिनों तक अपने पक्ष में मतदाताओं के हवा का रुख का दावा करने वालें मो.जुबैर अपनी पत्नी को जीता नहीं  पायें।निर्वाचित जिप सदस्य खुशबु कुमारी के प्रति संबेदना की लहर ऐसी दौडी की सभी महारथी तमाशा देखने को मजबूर हो गये।वहीं क्षेत्र संख्या-6 से इस चुनाव में सफलता का दम भरने वालें प्रत्याशी जलेखा खातुन अंतिम दिन तक चुनाव में सफलता की दंभ ही भरती रही।क्षेत्र से मिलन देवी निर्वाचित हो गयी।वो भी तब जबकि जलेखा खातुन एक मात्र अल्पसंख्यक उम्मीदवार थी,वहीं उसके पीछे एक पूर्व जिप सदस्य का पुरा समर्थन प्राप्त था।वहीं दलीय राजनीति में काफी दिनों तक जमीनी नेता के तौर पर पहचान बनाने वाला संतोष यादव आरक्षण के कारण अपनी पत्नी को जिप क्षेत्र संख्या-7 से मैदान में उतारने को मजबूर हुआ।शुरुआती क्षणों में उसे कोई भी तबज्जों देने के मुड में नहीं था।उक्त क्षेत्र का सीधा लडाई निवर्तमान जिप सदस्य विजय कुमार झा भोला व पूर्व के चुनाव में रनर अप रहे संतोष झा पप्पू के बीच मान रहा था।लेकिन कहा जाता है कि राजनीति में न कोई छोटा होता है ना ही कोई बडा।उक्त कथन को सही साबित करता संतोष कुमार यादव अपनी पत्नी के लिए सभी मतदाताओं के चौखट दर चौखट  गया,जिसका परिणाम काफी सुखद रहा।दोनों महारथी आपस में ही वोट की राजनीति करते रहें।इन सब के बीच संतोष कुमार यादव की पत्नी शोभा भारती निर्वाचित हो गयी।दूसरे स्थान पर पूर्व के ही उप विजेता संतोष कुमार झा उर्फ पप्पू की पत्नी रही।अब देखना है कि क्षेत्र संख्या-08 व क्षेत्र संख्या-09 से क्या परिणाम आता है।

Post a comment

0 Comments