वित्तीय वर्ष-2011-12 में हुई थी योजना के नाम पर तीन लाख चौबालीस हजार का गबन - BNN News

Latest

14 Sep 2019

वित्तीय वर्ष-2011-12 में हुई थी योजना के नाम पर तीन लाख चौबालीस हजार का गबन

बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी के शाहपुर पंचायत में तेरहवी वित आयोग की राशि खर्च में भारी अनियमितता का मामला सामने आया है। जो काफी चौंकाने वाला है। अधिकारियों के द्वारा जांच कर दोषी पाये जाने के बाद भी दोषियां पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिससे अधिकारियों के कार्यशैली पर सवाल खड़ा हो रहा है। आखिर किसके दवाब में अनियमितता पर कार्रवाई नहीं की गई , फिलहाल इसका जवाब देने के लिए कोई अधिकारी तैयार नहीं दिख रहे है। जबकि शिकायतकर्ता गत दो वर्ष से कार्रवाई के लिए सरकारी कार्यालयों की खाक छान रहा है। शाहपुर के शिवनगर गांव के काशीनाथ झा मंगल ने बताया कि वर्ष-2017 में एसडीएम को आवेदन देकर शाहपुर पंचायत में हुए योजना के नाम पर हुई फर्जीवाड़ा की शिकायत की। जिसके बाद एसडीएम ने योजना की भौतिक जांच करने के आदेश पूर्व बीडीओ को दिया। बीडीओ के आदेश पर बीपीआरओ ने स्थलीय जांच, स्थानीय लोगों से पूछताछ एवं योजना के नाम पर व्यय राशि के कागजातों की जांच की। योजना संचालन में ही चीज काफी हैरत में डालने वाली है। शिकायतकर्ता ने बताया कि योजना की राशि गबन किए जाने के लिए एक ही योजना के नाम पर चार बार राशि की निकासी की गयी। जो करीब तीन लाख 44 हजार पांच सौ के आसपास है। उधर, जानकारी के अनुसार बीडीओ के आदेश पर बीपीआरओ गौतम आनंद ने आरोपों की जांच की तो मामला सरकारी राशि के गबन की पुष्टि हो गयी। बीपीआरओ ने  जांच रिपोर्ट वर्ष-2017 के अंतिम महीने में समर्पित कर दी। बावजूद अब तक दोषियों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। इस संबंध में प्रभारी बीडीओ सह सीओ प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि उन्हें इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है। वहीं बीपीआरओ ने बताया कि जो भी गड़बड़ी थी, उसे रिपोर्ट में अंकित कर रिपोर्ट दी जा चुकी है।

No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें