बिजली तार के चक्कर में नहीं हुआ डेढ़ सौ फीट बांध की मरम्मत - BNN News

Breaking

15 Jul 2018

बिजली तार के चक्कर में नहीं हुआ डेढ़ सौ फीट बांध की मरम्मत

बेनीपट्टी(मधुबनी)। बिजली विभाग की लापरवाही के कारण नजरा के जमींदारी बांध की मरम्मत नहीं हो पायी है। क्षतिग्रस्त बांध के करीब छह फीट की दूरी पर एलटी तार के झूलने के कारण बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल, झंझारपुर के द्वारा बांध की मरम्मत नहीं कराई गई है। बांध के उपर से बिजली के तारों को अन्यत्र ले जाने के लिए हालांकि, विभाग ने बिजली विभाग के कार्यपालक अभियंता को पत्राचार किए जाने की बात कही है। लेकिन, बांध मरम्मत के करीब दो माह के बाद भी उक्त स्थल की मरम्मत नहीं होने से लोगों को आवाजाही के साथ संभावित बाढ़ के प्रति आशंकित दिख रहे है। बांध मरम्मत के संबेदक के द्वारा उक्त बांध के स्थल के मिट्टी को खुदाई कर दी गई है। जिससे डेढ सौ फीट की दूरी में बांध चलने के लायक भी नहीं रह गया है। मिली जानकारी के अनुसार बांध मरम्मत में मिट्टी को दुरुस्त करने के लिए जेसीबी का प्रयोग किया गया था। बताया जा रहा है कि जेसीबी की उंचाई व तार के झूकने के भय से जेसीबी चालक ने उक्त स्थल पर कार्य करने से इंकार कर मजदूरों से कार्य कराने की बात कही थी। स्थानीय लोगों ने बताया कि बाढ़़ नियंत्रण प्रमंडल, झंझारपुर (01) के जेई सुधीर प्रसाद ने जल्द ही बिजली विभाग के साथ समनव्य स्थापित कर जल्द ही समस्या का निदान कर बांध मरम्मत कराने की बात कही थी, लेकिन बांध मरम्मत का कार्य समाप्त हुए करीब एक माह गुजर जाने के बाद भी न तो बिजली का तार को पोल पर टांग कर सीधा किया गया है, न ही बांध मरम्मत कराई गई है। पूर्व पंचायत समिति सदस्य प्रवेज आलम, इम्तियाज उर्फ लाल बाबू, हस्सान ब्रदर समेत कई लोगों ने बताया कि उक्त बांध के बगल में ही गत बाढ़ में कटाव कर दिया था। जिसके कारण नजरा में दो नाव का परिचालन करना पड़ा था। उक्त कटाव स्थल को मिट्टी भरी बैग से पाट दिया गया है, लेकिन उसी के बगल में बांध की मरम्मत नहीं कराई गई है। लोगों ने बताया कि बाढ आने पर पुनः बांध कटाव कर जाएगा। गौरतलब है कि उक्त बांध के बगल से अधवारा समूह की धौंस नदी गुजरती है। जो बांध के ध्वस्त होने पर विकराल रुप धारण कर आबादी वाले इलाकों में प्रवेश कर काफी तांडव मचाती है। बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल, झंझारपुर के एसडीओ लक्ष्मण यादव ने बताया कि उक्त स्थल पर बिजली तार के कारण मरम्मत नहीं होने की जानकारी विभाग को दी जा चुकी है। बिजली तार सही होते ही बांध की पूर्ण मरम्मत कराई जाएगी। वहीं बिजली विभाग के जेई अनिल कुमार राम ने बताया कि बांध मरम्मत के दौरान विभागीय प्रावधान के संबंध में जानकारी दिए जाने के बाद बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल के अधिकारी कुछ नहीं बोले। वही जेई ने बताया कि अब तक उनके पास बाढ़ नियंत्रण के द्वारा कोई लिखित नहीं प्राप्त हुई है।

No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें