मधुबनी। जिला कृषि पदाधिकारी के खिलाफ शुक्रवार को हजारों किसानों ने मधुबनी समाहरणालय पहुँच कर अपनी आवाज बुलंद की। किसान सुबह से ही ट्रैक्टर व अन्य वाहनों से मधुबनी पहुँच गए थे। किसानों में कृषि पदाधिकारी के खिलाफ जबरदस्त आक्रोश देखा गया। जिसको देखते हुए जिला प्रशासन ने एहतियातन पुलिस लाइन से भारी संख्या में पुलिस फोर्स को मुस्तैद किया था। वहीं, प्रशासन पूरी तरह से चौकस नजर आयी, ताकि, कोई अप्रिय घटना न हो।

1

धरना दे रहे पूर्व मुखिया अनिल मिश्र, अनिल सिंह, मो.कुद्दुस, मो.साबिर, मो.आबिद, कमरे आलम, जयनारायण यादव सहित अन्य किसानों ने कहा कि कृषि अधिकारियों के किसान विरोधी कार्यशैली में सुधार नहीं हुआ तो जिला कृषि पदाधिकारी समेत अन्य कृषि विभाग के अधिकारियों को नजरबंद किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस तरह के जिला कृषि पदाधिकारी को तत्काल बर्खास्त करना चाहिए। 

2

धरना स्थल पर आंदोलनकारियों ने कहा कि गत दो साल से माफियाओं को कृषि पदाधिकारी संरक्षण दे रहे है। आधे दर्जन से अधिक अवैध गोदाम पिछले साल भी सील किया गया था, लेकिन, कोई माकूल कार्रवाई नहीं हुई। इस साल भी अवैध गोदामो से हजारों खाद बरामद हुए है। अवैध गोदाम में खाद रखा हुआ है और किसानों को खाद नहीं मिल रहा है। किसानों ने कहा की कृषि विभाग से मिलीभगत कर अवैध खाद दुकानदार ऊंचे व मनमाने कीमतों पर खाद बेच रहे है। 

किसानों ने कहा कि इस तरह के मामलों में जो भी लिप्त है, उन सभी की तत्काल गिरफ्तारी होनी चाहिए।

किसानों ने कहा कि फिलहाल तो धरना के माध्यम से चेताया जा रहा है, अगर जिला कृषि पदाधिकारी को बर्खास्त नहीं किया गया और माफियाओं की गिरफ्तारी नहीं हुई तो कृषि अधिकारियों को नजरबंद किया जाएगा। जिसकी जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post