बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी जेडीयू अध्यक्ष के चुनाव में गिरे मत से अधिक मत निकलने पर हर कोई हैरान है। राजनीतिक दल जहां अब तक ईवीएम पर आरोप लगाते रहे है, लेकिन, जेडीयू के सांगठनिक चुनाव में हुई बैलेट के इस्तेमाल में भी चमत्कार देखने को मिला। हालांकि, चुनाव का कोई परिणाम तो नहीं निकल सका, लेकिन, चुनाव के अगले दिन भी चमत्कारी बैलेट की चर्चा खूब हुई। चाय दुकान से लेकर सोशल मीडिया पर लोगों ने खूब लुत्फ लिए। 

1

गौरतलब है कि बेनीपट्टी नगर के डॉ एन सी कॉलेज परिसर में गुरुवार को जेडीयू अध्यक्ष के लिए कार्यकर्ताओं की बैठक थी। जिसके लिए पार्टी ने बाकायदा पर्यवेक्षक के रूप में पवन कुमार सिंह उर्फ पप्पू व निर्वाची पदाधिकारी के रूप में विनोद मंडल को भेजा था। बैठक के शुरुआती में सर्वसम्मति से अध्यक्ष चुन लेने की कवायद हुई। जिसके नाकाम होने के बाद अध्यक्ष के लिए तीन जेडीयू नेताओं ने नामांकन कर दावा पेश किया। देवचन्द्र सिंह, प्रदीप झा बासू और प्रेमशंकर राय मैदान में आ गए। चुनाव से ऐन पूर्व देवचन्द्र सिंह ने अपना दावा वापस कर मतदान को सीधी टक्कर में तब्दील कर दिया। 

2

जिसके बाद चुनाव की प्रक्रिया शाम तक चलती रही। कुल 364 मतों में 200 मत गिराए गए। वोट की गिनती के दौरान गिरे वोट से अधिक बैलेट हो गया। गिनती के बाद जहां प्रेमशंकर राय को 102 मत प्राप्त हुए, वहीं, प्रदीप झा बासू के खाते में 122 मत व 05 मत को रद्द कर दिया गया। बताया जा रहा है कि जैसे वोट का कथित चमत्कार की जानकारी कार्यकर्ताओं को हुई, वैसे, ही कार्यकर्ता आक्रोशित हो गए। जिसके बाद कार्यकर्ताओं ने हो हंगामा ओर गाली गलौज शुरू कर दी, ये हंगामा तबतक चलता रहा, जबतक निर्वाची पदाधिकारी ने रजिस्टर पर चुनाव को लिखित तौर पर अमान्य नहीं बताया।

उधर, प्रेमशंकर राय शुक्रवार को जिला कार्यालय पहुँच कर पूरे मामले की जानकारी पार्टी के वरीय नेताओं को दी है। अब देखना होगा की, पार्टी का क्या निर्णय होता है, लेकिन, फिलहाल, जेडीयू के सांगठनिक चुनाव चर्चा में बना हुआ है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post