मधुबनी। जिला अधिकारी अरविंद कुमार वर्मा के निर्देश के आलोक में जिले के सभी 21 प्रखंडों में से प्रति प्रखंड एक पंचायत का चयन कर पूर्व में ही सूची जारी की जा चुकी है।   उन्होंने कहा है कि निरीक्षण के क्रम में संबंधित प्रखंड के सभी प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी, संबंधित प्रखंड के वरीय प्रभारी पदाधिकारी सहित अन्य सभी संबंधित अधिकारी  चयनित पंचायत में पूरा दिन बिताएंगे। ताकि, उक्त पंचायत के सभी समस्याओं  का समाधान ऑन स्पॉट किया जा सके।

1

उन्होंने अपने आदेश में कहा है कि  जिले के सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, सभी अंचल अधिकारी, सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, सभी प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी सभी प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी, सभी कार्यक्रम पदाधिकारी मनरेगा, सभी प्रखंड कृषि पदाधिकारी, सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, सभी प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी एवं सभी थानाध्यक्ष  बुधवार 07 सितंबर 2022 को जिले के सभी 21 प्रखंडों में चयनित पंचायतों के अंतर्गत समेकित रूप से निरीक्षण  करेंगे। उन्होंने निर्देश दिया है कि वे सभी अधिकारी अपने-अपने विभाग से संबंधित योजनाओं/ कार्यक्रमों का प्रातः 8:00 से 11:00 पूर्वाहन तक भ्रमणशील होकर स्थलीय जांच करेंगे। उन्हें अपना जांच प्रतिवेदन उसी दिन संध्या में उपलब्ध कराने का निर्देश भी दिया गया है। वर्णित सभी पदाधिकारी स्थल भ्रमण के उपरांत निर्धारित पंचायत भवन में उपस्थित होंगे एवं शिकायतकर्ताओं से प्राप्त शिकायतों का जांच उपरांत समस्या का ऑन स्पॉट निष्पादन भी करेंगे।

2

यदि किसी परिवाद का स्थल निरीक्षण कर जांच कराने की आवश्यकता होगी तो तत्क्षण संबंधित पदाधिकारी से जांच भी कराए जाने के निर्देश दिए गए हैं।  जांच प्रतिवेदन को पंचायत भवन में आयोजित कैंप में उपलब्ध कराकर परिवाद का निवारण सुनिश्चित करवाने का निर्देश भी निर्गत किया गया है। सभी प्रखंडों के लिए नामित वरीय पदाधिकारी  अपने संबंधित प्रखंड के कैंप में बने रहेंगे।

पंचायत भवन में कैंप में आने वाले लोगों को कठिनाई न हो इसके लिए  संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी को कैंप के लिए आवश्यक सामग्रियों के पूर्ण व्यवस्था करने की जिम्मेवारी दी गई है। ताकि, आगंतुकों को किसी प्रकार की परेशानी ना हो।

बताते चलें कि 07 सितंबर 2022 को प्रखंड अंधराठाढ़ी के गंगुली पंचायत में, बाबूबरही प्रखंड के घंघौर पंचायत में, बासोपट्टी प्रखंड के हत्थापुर परसा पंचायत में, बेनीपट्टी प्रखंड के अकौर पंचायत में, बिस्फी प्रखंड के तीसी नरसाम उत्तर में, घोघरडीहा के चिकना पंचायत में, हरलाखी के खिरहर पंचायत में, जयनगर के जयनगर बस्ती पंचायत में, झंझारपुर के महिनाथपुर में,  कलुआही के मलमल दक्षिण में, खजौली के इनरवा में, खुटौना के एकहत्था में,  लदनिया के कुमरखत पश्चिमी  में,  लखनौर के लखनौर पश्चिमी में,  लौकही के बनगामा दक्षिण में,  मधेपुर के भरगामा में, मधवापुर के साहर उत्तरी में, पंडौल के पंडौल पूर्वी पंचायत में, फुलपरास के सैनी में, रहिका के खजुरी पंचायत में और राजनगर प्रखंड के मंगरौनी उत्तर पंचायत में प्रखंड स्तरीय कैंप का आयोजन किया जाएगा।

जिलाधिकारी ने बताया कि इस प्रकार के निरीक्षण एवं कैम्प आयोजित करने का उद्देश्य जिले के सभी पंचायतों के स्थानीय समस्याओं से रू ब रू होना है एवम उनका ऑन स्पॉट निष्पादन भी करना है।  इतना ही नहीं इससे सरकार की लोक कल्याणकारी योजनाओं को जमीनी स्तर पर सफलीभूत करने में सहायता मिलेगी। पंचायतों के लोग भी प्रखंड व जिला स्तर के पदाधिकारियों से सीधा संवाद कर सकेंगे और अपनी कठिनाइयों को रख सकेंगे। जिलाधिकारी द्वारा इस मौके पर चिन्हित पंचायतों के सभी लोगों को अपनी जायज समस्याओं के साथ वहां के पंचायत भवन/ पंचायत सरकार भवन पर आने की अपील की गई है। ताकि, उनका ऑन स्पॉट निष्पादन किया जा सके।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here




ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post