बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी पुलिस के तत्परता के कारण एक विवाहित महिला की जान बच गयी। महिला को ठिकाने लगाने के लिए उसके निकट रिश्तेदारों ने अपराधियों को इसके लिए सुपारी दी थी। सुपारी का अग्रिम राशि के लिए अपराधियों ने महिला की हत्या से पूर्व मुख्य सूत्रधार से पैसे के लिए झगड़ रहा था। इसी दौरान बेनीपट्टी थाना की पेट्रोलिंग गाड़ी गुजर रही थी। पुलिस ने माजरा समझने के लिए जैसे ही गाड़ी रोकी, वैसे ही सारा मामला सामने आ गया।
1


पुलिस ने तत्काल मौके से पांच लोगों को हिरासत में ले लिया, और महिला को दरभंगा से उच्चैठ लाने वाली स्कोर्पियो को जब्त कर लिया। दरअसल, औंसी ओपी के जीरोमाइल के मिंटू सहनी अपने ही भाभी की हत्या की साजिश रची थी। जिसमें उसके पिता राम भरोस सहनी, सास व महिला की सौतन भी संलिप्त थी।

2


पुलिस ने फिलहाल, महिला के देवर मिंटू सहनी, राम भरोस सहनी, देउरी के मो सलीम, संजीव मंडल व स्कोर्पियो चालक मनीष कुमार झा को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया है।


इस संबंध में पीड़िता महिला राधा देवी ने बेनीपट्टी थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई है। दर्ज केस में महिला ने कहा है कि उसकी शादी जीरोमाइल के राम भरोस सहनी के पुत्र चिंटू कुमार से तीन वर्ष पूर्व प्रेम विवाह के रूप में हुआ था। शादी के कुछ वर्षों के बाद पता चला कि उसके पति की पूर्व में भी शादी हुई है। जिससे उसे चार संतान है। जबकि, उसे एकमात्र दो वर्ष का संतान है। शादी के बाद उसके पति उसे दरभंगा में किराया के मकान में रखते थे। कुछ दिन पूर्व उसके पति अपने घर गए। इस बीच 06 अक्टूबर को उसके देवर मिंटू कुमार, सास, व सौतन आयी और काफी गाली गलौज की। 


गाली गलौज के बाद उसे एक गाड़ी से सौहरौल ले आया गया। फिर, उसका देवर उसे अपने ससुराल हायाघाट ले गया। जहां दो दिन रहने के बाद उसे उच्चैठ के एक होटल में ले आया गया। जहां उसे जान से मार देने की धमकी दी गयी और गर्भ में पल रहे भ्रूण को गिराने की बात कही गयी। महिला ने बताया कि उसके बाद उसके देवर के साथ तीन चार लोग आए और उसे उच्चैठ ले गए। जहां एक अपराधी उसके कनपट्टी पर पिस्तौल सटा दिया। इसी के दौरान उसके साथ पैसे के लिए उसके देवर से झगड़ने लगे। दो लड़के पैसे लेकर फरार हो गया। इतने में पुलिस पहुँच गयी। महिला ने बताया की उसकी हत्या के लिए डेढ़ लाख रुपये में तय हुआ था। जहां 40 हजार पेशगी देना था। जो नहीं दिया गया था। उसी के चक्कर में उसकी जान बच गयी।


एसएचओ अरविंद कुमार ने बताया कि साजिश का पर्दाफाश कर दिया गया है। महिला के आवेदन पर एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तार हुए आरोपितों को जेल भेज दिया गया है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post