Ticker

6/recent/ticker-posts

हिंदी दिवस : हिंदी को बढ़ावा देने की विशेष जरूरत : बीडीओ



बेनीपट्टी(मधुबनी)। प्रखंड कार्यालय परिसर स्थित मेघदूतम सभागार में सांख्यिकी पर्यवेक्षक की अध्यक्षता में हिंदी दिवस के मौके पर मंगलवार को विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें आज के परिवेश में हिंदी भाषा के उपयोग और उसके व्यापकिकरण पर चर्चा की गयी। संगोष्ठी में मौजूद हिंदी भाषा के विकास के लिये निरंतर कार्य कर रहे लोगों को कलम प्रदान कर हिंदी भाषा को आगे बढ़ाने को प्रेरित किया गया। इस दौरान बीडीओ डॉ. रविरंजन ने कहा कि राष्ट्रभाषा के प्रति सभी लोगों में सम्मान का भाव हो इसके लिये यह आयोजन किया गया है। 


देश को आजादी मिलने से पूर्व ही उस समय के तत्कालीन अहिन्दीभाषी महानुभावों ने आजादी मिलने पर हिंदी को राष्ट्रभाषा के रूप में स्वीकार करने का प्रस्ताव पारित किया गया था लेकिन यह दुर्भाग्य रहा कि 14 सितंबर 1949 को इसे केवल राज्यभाषा का ही दर्जा मिल सका. हमारे देश में सुभद्राकुमारी चौहान, महादेवी वर्मा, भारतेंदु हरिश्चंद्र, रामधारी सिंह दिनकर, अयोध्या सिंह उपाध्याय हरिऔध, हरिवंश राय बच्चन और गोपाल सिंह नेपाली जैसे कई हिंदी भाषी कवियों ने अपनी काव्य रचनाओं के बल पर स्वंत्रता आंदोलन के सेनानियों में उत्साह भरने का काम किया लेकिन आज हिंदी को जो सम्मान मिलना चाहिये वह नही मिल रहा। इसलिये हम सबको मिलजुलकर इसके लिये आंदोलन चलाने की जरूरत है।


वहीं केभीएससी कॉलेज के हिंदी विभागाध्यक्ष रहे अवकाश प्राप्त प्राध्यापक प्रो. योगानंद झा ने कहा कि सही मायनों में हम हिंदी दिवस मनाकर हिंदी को राष्ट्रभाषा का दर्जा दिलाने का संकल्प लेते हैं लेकिन इस संकल्प को आंदोलन में बदलने की जरूरत है। हिंदी विभिन्न प्रदेशों के लोगों को एक सूत्र में बांधने का सबसे सरल और सुलभ माध्यम है। 


इसके लिए यह आवश्यक है कि हम अधिक से अधिक हिंदी का प्रयोग करें। आजादी से पहले गैर हिन्दीभाषी महात्मा गांधी, सरदार बल्लभ भाई पटेल, सुभाषचंद्र बोस, सी राजगोपालाचारी सहित तमाम लोगों ने इसे राष्टभाषा के रूप में दर्जा देने की बात कही थी लेकिन  षड्यंत्र के तहत ऐसा नही हो सका और वोट की राजनीति का शिकार होकर रह गयी है। वहीं भाकपा नेता कृपानंद आजाद ने भी हिंदी को व्यापकीकरण के लिये अधिक से अधिक प्रयोग करने और आन्दोलन चलाने की आवश्यकता जतायी।



कार्यक्रम की अध्यक्षता सांखिकी पर्यवेक्षक, देव नारायण महतो, बीसीओ संजीत कुमार, आनंद कुमार चौधरी, अमित कुमार झा, मनोज कुमार राय, प्रशांत कुमार, अनिल साफी, रंजीत कुमार झा, कैलाश मिश्र व अरुण कुमार सहित अन्य लोग भी मौजूद थे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here

Post a Comment

0 Comments