बेनीपट्टी(मधुबनी)। बिहार राज्य आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन के बैनर तले शुक्रवार को बेनीपट्टी के आंगनबाड़ी सेविका व सहायिकाओं ने बाल विकास परियोजना कार्यालय के समीप 16 सूत्री मांग के समर्थन में धरना प्रदर्शन किया। धरना को संबोधित करते हुए संघ के जिला महासचिव सह प्रखंड अध्यक्ष शबनम झा ने सभी सेविका व सहायिकाओं को सरकारी कर्मचारी का दर्जा मिलना चाहिए।


सरकारी कर्मचारी का दर्जा देकर सेविका को 21 हजार व सहायिकाओं को 18 हजार रुपये मानदेय दे। सेविका को पर्यवेक्षिका व सहायिका को सेविका में पदोन्नति देकर उम्र सीमा को खत्म किया जाए।  श्रीमती झा ने कहा कि जन्म मृत्यु प्रमाणपत्र के लिए यूजर व पासवर्ड तत्काल सभी सेविकाओं को दी जाए। बेनीपट्टी में कार्यरत डाटा ऑपरेटर पर कार्रवाई करते हुए इनकी सूचना वरीय अधिकारी को दी जाए। नवचयनित सेविका व सहायिकाओं का मानदेय ऑनलाइन उनके कार्यदिवस से किया जाए एवं बकाए का भुगतान हो। 


श्रीमती झा ने संबोधित करते हुए कहा कि हर बात में सेविका व सहायिकाओं को चयन मुक्ति की धमकी, दवाब व डरा-धमका कर काम करवाना, शोषण, उत्पीड़न, निरीक्षण के नाम पर मनमाने ढंग से आरोपित करना बंद करे। कार्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार एवं दलाली प्रथा तत्काल समाप्त किया जाए। वही जिला महासचिव ने कार्यालय में निजी व्यक्ति से काम कराने पर भी सवाल उठाए। धरना से पूर्व सभी सेविका व सहायिकाओं ने चट्टानी एकता दिखाते हुए जमकर नारेबाजी की।


बता दे कि आंगनबाड़ी सेविका व सहायिकाओं ने यूनियन के राज्य के आह्वान पर धरना दिया। जहां उन्होंने 16 सूत्री मांग को फिर दुहराते हुए कहा कि जब तक उनकी मांग पूरी नहीं होगी, तब तक यूनियन के आह्वान पर वो लोग धरना प्रदर्शन करती रहेगी। धरना को अमोल देवी, मोहसिना खातून, सुधा देवी, विभा देवी, गीता देवी, वीणा देवी, मीणा देवी, रामविलास ठाकुर व संरक्षक लोकनाथ झा ने भी संबोधित किया।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post