Ticker

6/recent/ticker-posts

जांच टीम के भनक पर उतरने लगा फर्जी नर्सिंग होम का बोर्ड, होगी कार्रवाई



बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी में फर्जी नर्सिंग होम की जांच सोमवार को सिविल सर्जन के आदेश पर गठित टीम ने की। जांच टीम ने बेनीपट्टी के आठ नर्सिंग व क्लिनिक की जांच की। जांच टीम के आने की भनक पर कई नर्सिंग होम संचालन अपना अपना बोर्ड उतार कर ताला लगा गायब हो गए। जबकि, जांच टीम आश्वस्त हो गयी कि, अंदर क्लिनिक का संचालन हो रहा है। दरअसल, बेनीपट्टी के बुद्धिनाथ झा ने बेनीपट्टी में चिन्हित फर्जी नर्सिंग होम व क्लीनिक के सील कर प्राथमिकी दर्ज कराने की मांग को लेकर लोक शिकायत में वाद दायर किया है। जिसके आलोक में सिविल सर्जन ने जांच टीम बनाकर दो अलग अलग दिनों में चिन्हित क्लिनिक व नर्सिंग होम की जांच कराई है।



इन अस्पतालों को विगत छह महीने पूर्व ही जांचोपरांत बेनीपट्टी के पीएचसी प्रभारी डॉ. एसएन झा ने बंद किये जाने को लेकर अल्टीमेटम दे चुके हैं। बावजूद कही नाम बदलकर तो कही बोर्ड उतारकर इन अवैध व फर्जी अस्पतालों का संचालन अब तक जारी है। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की आठ अलग-अलग टीम ने मां जानकी सेवा सदन कटैया रोड बेनीपट्टी, शिफा पॉली क्लिनिक मकिया, सुदामा हेल्थ केयर धकजरी बेनीपट्टी एवं अंशु फस्ट एड सेंटर धकजरी, सोनाली हॉस्पिटल अनुमंडल मेन गेट बेनीपट्टी, आराधना हेल्थ एंड डेंटल केयर क्लिनिक जेल गेट बेनीपट्टी एवं जय मां काली सेवा सदन अरेर, आरएस मेमोरियल हॉस्पिटल पुपरी रोड बेनीपट्टी, अलजीमा हेल्थ केयर एवं सान्वी हॉस्पिटल ननदी-भौजी चौक की जांच की। 


विगत 13 अगस्त से लेकर 16 अगस्त तक दूसरी बार जांच शुरू होते ही फर्जी व अवैध रूप से संचालित कई नर्सिंग होम का जहां नाम बदल गया है वहीं बोर्ड भी उतर गया है। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, मां जानकी सेवा सदन कटैया रोड बेनीपट्टी में जब टीम जांच करने पहुंची तो बाहर से इस अस्पताल के गेट में ताला मारकर रखा गया था और अंदर में कुछ युवक मौजूद थे। भीतर पहुंचने पर जांच टीम को अस्पताल या नर्सिंग होम के मानक से संबंधित कोई चीज नहीं मिला। जांच टीम को यह बात स्वीकार करना पड़ा कि यह अस्पताल पूर्णतया अवैध व फर्जी रूप से चल रहा है।


जानकारी दे कि सिविल सर्जन ने जांच टीम को चिन्हित नर्सिंग होम के निबंधन, चिकित्सक की उपस्थिति, एएनएम/जीएनएम की उपस्थिति, पारामेडिकल स्टाफ की उपस्थिति, फायर सेफ्टी, बायोवेस्ट, आउट डोर एवं इनडोर रजिस्टर का जांच, ओटी का जांच, जीवन रक्षक दवा की उपलब्धता,ऑक्सीजन की उपलब्धता, भर्ती रोगी का विस्तृत जानकारी की रिपोर्ट तलब की है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here

Post a Comment

0 Comments