Ticker

6/recent/ticker-posts

पूर्व एमएलए रामाशीष ने कहा, भैंस बकरी की होगी गिनती तो जाति जनगणना क्यों नहीं



बेनीपट्टी(मधुबनी)। प्रखंड कार्यालय के समीप राजद कार्यकर्ताओं की एक संक्षिप्त बैठक हुई। जिसमें जातीय जनगणना को लेकर जिले में आहूत होनेवाली धरना कार्यक्रम को सफल बनाने पर व्यापक चर्चा परिचर्चा की गयी। 


इसके बाद प्रेस वार्ता कर प्रेस प्रतिनिधियों को जानकारी देते हुए पूर्व विधायक रामाशीष यादव ने कहा कि जातीय जनगणना की मांग राजद बहुत पहले से प्रमुखता से उठाती आ रही है। यहां तक कि बिहार विधानसभा से भी दो-दो बार पारित कर केंद्र को भेजा जा चुका है। लेकिन हर बार केंद्र इसे टालती रही है।


जब तक जातीय जनगणना नही कराया जाता तब तक पिछड़े, अति पिछड़े, अनुसूचित जाति, जनजाति आदि जातियों के सही आंकड़े सामने नही आ सकेंगे। जब तक आंकड़े स्पष्ट नही होता तब तक इन जातियों के विकास के लिये ठोस योजनाएं नही बनायी जा सकेगी। तब तक इनके विकास की बातें बेमानी होगी। 


अंग्रेजों के जमाने में भी जातियों की गणना की जाती थी। जब गाय, बैल, भैंस और बकरी आदि पशु पक्षियों की गणना हो सकती है तो फिर जातियों की गणना क्यों नही हो सकती? इसलिए हर हाल में केंद्र सरकार को जातिय जनगणना करानी चाहिए। राजद इसके लिए आंदोलन करेगी।


इसी मुद्दे को जिला मुख्यालय में शनिवार को आहूत होनेवाली धरना कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए राजद कार्यकर्ता जुट चुके हैं। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर राय जानने के लिए क्षेत्र भ्रमण किया है और लोग इस मांग को लेकर मुखर हो चुके हैं। सभी लोग चाहते हैं कि जातीय जनगणना हो।


उन्होंने सभी लोगों से उक्त कार्यक्रम में अधिक से अधिक भाग लेकर सफल बनाने की अपील की। मौके पर पंचायती राज प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष ललित कुमार सिंह, पूर्व उपप्रमुख राम विनय प्रधान व संतोष कुमार सुमन सहित अन्य कार्यकर्ता भी मौजूद थे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here

Post a Comment

0 Comments