बेनीपट्टी(मधुबनी)। ग्लोबल वार्मिंग से मानव जीवन पर खतरा उत्पन्न हो गया है। वृक्षारोपण के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण को लेकर बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने जिस तरह से जल जीवन हरियाली अभियान की शुरुआत की थी उसे आगे बढाने की जरूरत है। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर प्रदेश जदयू के वरिष्ठ नेता तथा अलीनगर दरभंगा के संगठन प्रभारी प्रफुल्ल कुमार ठाकुर ने बेनीपट्टी के दामोदरपुर गाँव स्थित अपने आवासीय परिसर में फलदार पौधों का वृक्षारोपण करने के बाद उक्त बातों की जानकारी दी। 


जदयू नेता ने सीएम नीतीश कुमार को एक राजनेता के साथ साथ समाजसुधारक तथा कुशल पर्यावरणविद् बताते हुए कहा कि ग्लोबल वार्मिंग से उत्पन्न संकट से निपटने के लिए उन्होंने जिस तरह से जल जीवन हरियाली अभियान के तहत सड़क, नहर एवं अन्य सभी जगहों पर व्यापक स्तर पर वृक्षारोपण अभियान को आमजनों तक पहुचाने का काम किया वह सराहनीय है तथा उसी का परिणाम है कि आज बिहार  देश से हरित आवरण में 17 प्रतिशत आगे है। 


जदयू नेता ने बिहार के सीएम को पर्यावरण के मुद्दे पर संवेदनशील बताते हुए कहा कि वे देश के इकलौते मुख्यमंत्री है जिन्होंने पर्यावरण संरक्षण के लिए 03 दिसंबर 2019 को जल जीवन हरियाली यात्रा के माध्यम से बिहार के 38 जिलों में भ्रमण कर 16 स्थलों पर जागरूकता सम्मेलन तथा 11 जिलों में समीक्षा बैठकों तथा 19 जनवरी 2019 को इसके समर्थन में मानव श्रृंखला के माध्यम से इस अभियान के प्रति अपनी प्रतिबद्धता जग जाहिर किया। 


जदयू नेता ने पर्यावरण संरक्षण के लिए बिहार माॅडल को देश स्तर पर एक उदाहरण बताते हुए कहा कि बिहार देश का पहल राज्य है जहां इस अभियान को आगें बढाने के लिए 1359 करोड़ रुपये की लागत से 32781 योजनाओं का शिलान्यास तथा 291 करोड़ की लागत से 2391 योजनाओं का उद्घाटन करते हुए स्पष्ट कर दिया कि यह अभियान बिहार के लिए कितना आवश्यक है। 


जदयू नेता ने आमजनों से आह्वान करते हुए कहा कि विश्व पर्यावरण दिवस पर हर व्यक्ति कम से कम एक वृक्ष लगाकर पर्यावरण संरक्षण का संकल्प लें।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post