CM नीतीश कुमार ने मंगलवार को सदन में प्रजनन दर का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में प्रजनन दर कम हुआ है। लेकिन सदन के बाहर BJP विधायक हरिभूषण ठाकुर बचोल ने CM के बयान पर कहा कि प्रजनन दर कम तो हुआ है। लेकिन सिर्फ हिंदू परिवारों में हुआ है। मुसलमानों समाज की महिलाओं ने इसका पालन नहीं किया है।

बिस्फी से BJP विधायक हरिभूषण ठाकुर ने कहा कि प्रजनन दर को लेकर सिर्फ हिंदू समाज की महिलाएं चिंतित हैं। वो इसका पालन कर रही हैं। लेकिन मुसलमान समाज के लोग बहुसंख्यक बनना चाहते हैं। इस वजह से वे प्रजनन दर बढ़ा रहे हैं। उनको लगता है कि जिस तरह से पाकिस्तान और बांग्लादेश बना है। उसी तरह आबादी बढ़ने पर एक और देश बना लेंगे। मुस्लिम समुदाय का प्रजनन दर बढ़ता जा रहा है, इन लोगों के दिमाग में है कि जनसंख्या बढ़ाकर जैसे पाकिस्तान व बांग्लादेश बना दिया, उसी तरह इस देश पर कब्जा कर लें।

धार्मिक आधार पर देश का विभाजन करने वाले ये लोग हैं, यह भारत में देश विभाजन की मांग करेंगे। देश को विकासशील से विकसित बनाने के लिए जनसँख्या नियंत्रण कानून बिहार ही नहीं बल्कि पुरे देश में लागू होना चाहिए। आगे बचोल ने कहा कि वह आने वाले दिनों में सदन में यह मांग उठाएंगे। मीडिया ने जब बचोल से जदयू से इस मुद्दे पर ताल मेल को लेकर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि हम लोगों के लिए पहले देश है तब धर्म, उन लोगों के लिए पहले धर्म हैं बाद में देश।

वहीं बचोल के इस बयान पर AIMIM के विधायक अख्तरुल ईमान ने पलटवार करते हुए कहा कि नफरत फैलाने का काम ही इस पार्टी की है। वो हमेशा भड़काऊ बयान देते हैं। उन्होंने कहा कि इस देश में हर तरह की आजादी है। देश को युवाओं की जरूरत है। यहां बीजेपी की सरकार नहीं, साझा सरकार चल रही है, जिस दिन कानून बन जाएगा। तब पालन करेंगे। प्रजनन दर का मामला अमीरी और गरीबी से है।

जो लोग गरीब होते हैं, उनके पास ज्याद बच्चे होते हैं, जो अमीर होते हैं उनके पास कम। गैर मुस्लिम दलितों की बस्ती में ज्यादा बच्चे मिलेंगे। अगर आबादी से परेशानी है तो लोगों की आर्थिक और सामाजिक स्थिति को मजबूत करना चाहिए।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post