Ticker

6/recent/ticker-posts

हरलाखी में दिव्यांग के साथ हुई रेप मामले में 3 गिरफ्तार, पूछताछ में कबूला गुनाह, सभी ने किया था दुष्कर्म

बेनीपट्टी अनुमंडल क्षेत्र अंतर्गत हरलाखी थाना क्षेत्र के कौवाहा बरही गांव में नाबालिग मूक बाधिर लड़की के साथ हुई रेप मामले में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस ने मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिससे प्रारंभिक पूछताछ के बाद सभी से जेल भेज दिया गया है. गिरफ्तार आरोपियों की पहचान पीड़िता के ही गांव कौवाहा बरही के लक्ष्मी मुखिया, कृष्णा मुखिया व लक्ष्मीपुर टोला निवासी राम अवतार मुखिया के रुप में बताया गया है.

मामला मंगलवार का है, जहां नाबालिग मूक बाधिर लड़की से गैंगरेप कर उसका आंख फोड़ दिया गया. दिव्यांग युवती बोल व सुन नहीं सकती थी, रेप को अंजाम देने वालों को देख कर पहचान ना ले इसलिए दरिंदों ने रेप की घटना को अंजाम देने के बाद उसकी आंखे फोड़ दी. 

मामले की गंभीरता को देखते हुए मधुबनी एसपी ने घटना की जानकारी मिलते ही टीम गठन कर मामले की जांच के आदेश दिए थे. जिसके बाद बेनिपट्टी सर्किल इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने नेतृत्व में एक टीम गठन किया गया, जिसमें हरलाखी थानाध्यक्ष प्रेम लाल पासवान, खिरहर थानाध्यक्ष अंजेश कुमार, साहरघाट थानाध्यक्ष सुरेन्द्र पासवान, एएसआइ धर्मेन्द्र कुमार समेत अन्य पुलिस बल को शामिल किया गया था. जिसके बाद छापेमारी शुरू हुई और टीम ने तत्परता दिखाते हुए अलग-अलग जगहों से तीनों आरोपी को गिरफ्तार किया.

इस बाबत बेनीपट्टी के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अरुण कुमार सिंह ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि गिरफ्तार तीनों अभियुक्तों ने अपनी संलिप्तता स्वीकार लिया है. अभियुक्तों ने स्वीकार किया है कि सभी ने बारी-बारी से युवती के साथ दुष्कर्म किया फिर आंखें फोड़ दी. घटना स्थल से शराब का खाली बोतल भी मिली है, जिससे प्रतीत होता है कि आरोपियों ने शराब पीकर घटना को अंजाम दिया है. घटना को अंजाम देने के बाद बचने के लिए दिव्यांग युवती के आंखें नुकीली लकड़ी से फोड़ दी गई. घटनास्थल से नुकीली लकड़ी भी बरामद किया गया है जिसका इस्तेमाल आंख फोड़ने में किया गया था. 

वहीँ दूसरी तरफ वैज्ञानिक अनुसंधान के लिए एफएसएल मुजफ्फरपुर से सहायक निदेशिका अंबालिका त्रिपाठी की तीन सदस्यीय टीम के साथ हरलाखी थाना पहुंची. जहां एसडीपीओ अरुण कुमार सिंह से उन्होंने साड़ी जानकारी ली. घटना को लेकर बेनीपट्टी के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ने कहा कि सभी अभियुक्तों के विरुद्ध स्पीडी ट्राइल के तहत कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के लिए पुलिस तत्पर है. 



Post a Comment

0 Comments