Ticker

6/recent/ticker-posts

महीनों से टूटा हुआ था सड़क, किसी ने नहीं सुनी गुहार, ग्रामीणों ने खुद थामी सड़क मरम्मत करने की कमान


हरलाखी विधानसभा क्षेत्र के धनौजा गांव में विगत दो महीने पहले पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुके सड़क के निर्माण को लेकर नेता से लेकर अधिकारीयों तक गुहार लगाने के बाद मदद नहीं मिलता देख ग्रामीणों ने खुद से सड़क मरम्मत की कमान संभाल ली. ग्रामीणों ने बताया कि पांच साल पहले 15 लाख की लागत से धनौजा गांव में सड़क का निर्माण किया गया था, लेकिन सड़क निर्माण में लापरवाही हुई थी जिसके कारण दो महीने पहले सड़क टूट गया. उपरांत गांव के लोगों ने विभिन्न माध्यमों से प्रशासनिक अधिकारीयों, सासंद, विधायक, जिला पार्षद, वार्ड सदस्य तक से सड़क मरमत्ती करने की गुहार लगाईं लेकिन इस दिशा कोई पहल नहीं हुआ. जनप्रतिनिधियों के रवैये से आक्रोशित ग्रामीणों ने हार कर खुद से सड़क को दुरुस्त करने की ठान ली. इस मुहीम में धनौजा गांव के वीर चंद्र मिश्रा, विकास मिश्रा, बाला मिश्रा, मनीष झा, आशुतोष झा, राजा मिश्रा, कैलाश झा, श्रवण झा सहित कई ग्रामीण लगे हुए हैं. 

Post a comment

0 Comments