बेनीपट्टी(मधुबनी)। मुख्यालय के इंदिरा चौक पर अधिष्ठापित हाई मास्क लाईट सड़क अवरोधक बनकर रह गई है। करीब पांच सात वर्षों से उक्त लाईट स्वयं अंधेरे का शिकार होकर रह गई है। इस लाईट अधिष्ठापन पर व्यव राशि अपव्यय बनकर रह गई है। जिसकी सुधि लेने के लिए कोई जनप्रतिनिधि सामने नहीं आ रहा है। फलतः ये टॉवर सड़क के बीचोबीच अपने असतित्व पर आंसू बहाने को मजबूर है। गौरतलब है कि करीब दस वर्ष पूर्व तत्कालीन एमएलए शालिग्राम यादव ने अपने ऐच्छिक कोष से राशि खर्च कर इंदिरा चौक पर हाई मास्क लाईट का अधिष्ठापन कराया। लाईट लगने के बाद स्थानीय लोगों के प्रयास से लाईट को बिजली की आपूर्ति दी गई। जानकारी के अनुसार उक्त आपूर्ति के अवैध होने के कारण बिजली विभाग ने आपूर्ति बंद कर दी। इस बीच एक भारी वाहन के ठोकर से टॉवर क्षतिग्रस्त हो गया। जिसकी तत्काल स्थानीय लोगो ने मरम्मत कराई। मरम्मत कराए जाने के बाद भी बिजली आपूर्ति नहीं होने के कारण उक्त टॉवर अंधेरे की जगह रोशनी नहीं दे सकी। स्थिति ये है कि उक्त टॉवर अब महज सड़क अवरोधक बनकर रह गई। स्थानीय मोहन गिरी कारी साह जोगेन्द्र राय आदि लोगों ने बताया कि लाईट टॉवर के रोशनी से पूरा चौक ही नहीं बल्कि काफी दूर तक रात को रोशनी होती थी। जिससे असमाजिक तत्व व आपराधिक किस्म के लोग इधर नहीं आ पाते थे। जब से लाईट बंद हुई है तब से लोग असुरक्षित हो गए है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post