बेनीपट्टी(मधुबनी)। प्रखंड के गम्हरिया गांव में सूबे की एकमात्र अंकुरित सरस्वती मंदिर तालाब का जीर्णोद्धार किया जा रहा है। मनरेगा योजना के तहत साढ़े 9 लाख की लागत से जीर्णोद्धार कार्य शुरू किया गया है। कार्य में 166 जॉबकार्डधारी मजदूरों को लगाया गया है। सभी मजदूर सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखते हुए मिट्टी काटने और रखने का काम कर रहे है। कार्य की निगरानी स्वयं मुखिया अमरेंद्र कुमार मिश्र सुगन और पंचायत रोजगार सेवक तरूण कुमार कर रहें है। प्राप्त जानकारी के अनुसार साढ़ नौ लाख की लागत से शुरू हुए जीर्णोद्धार कार्य में दो शेड सहित चबूतरा और घाट का निर्माण कार्य कराया जाएगा। फिलहाल अभी उड़ाही और सौन्दर्यीकरण का कार्य कराया जा रहा है। बता दें कि मनपौर पंचायत के गम्हरिया गांव में बिहार का एकमात्र अंकुरित सरस्वती मंदिर अवस्थित है। यहां मां अंकुरित सरस्वती विराजमान है। सरस्वती पूजा और अन्य दिनों में भी भक्तों की हुजूम उमड़ती है। इसी को लेकर मंदिर परिसर में स्थित तालाब का जीर्णोद्धार और सौन्दर्यीकरण कार्य किया जा रहा है। मुखिया और पीआरएस ने बताया कि सूबे की एकतात्र अंकुरित सरस्वती मंदिर रहने के कारण यहां सामान्य स्थिति में प्रत्येक दिन श्रद्धालुओं की भीड़ पूजा अर्चना के लिये जुटती है। मनरेगा पीओ संजीव रंजन मिश्र ने बताया कि मनरेगा के तहत पौराणिक संपदा को बचाने और मजदूरों को भोजन जुटाने की समस्या से निजात दिलाने के उदेश्य से कई स्थानों पर कार्य किये जा रहें है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post