बेनीपट्टी(मधुबनी)। दूसरे प्रदेश से आये मजदूरों को क्वारंटाईन सेंटर पर रख खानापूर्ति की जा रही है। क्वारंटाईन में रह रहे मजदूरों को न तो बेहतर भोजन दी जा रही है, न ही डिग्निटी किट दी जा रही है। केन्द्र से लेकर राज्य सरकार सिर्फ कागजों पर ही घोषणा कर रही है। जबकि, क्षेत्र की स्थिति दयनीय है। ये बातें एमएलए भावना झा ने बुद्धवार को पार्टी कार्यालय में प्रेस को संबोधित करते हुए कहा। विधायक ने कहा कि कोरोना के मद्देनजर हर एमएलए से पचास लाख व वेतन से पंद्रह प्रतिशत की कटौती की गई। उन्होंने कहा कि जब इतना पैसा खर्च किया जा रहा है तो धरातल पर क्यूं नहीं दिखाई दे रहा है। सरकार मीडिया पर पाबंदी लगा कर अपनी नाकामी को छुपाने का प्रयास कर रही है। विधायक ने कहा कि पूरे देश में नमस्ते ट्रंप व एमपी में सरकार गिराने व बनाने में केन्द्र लगी रही। जिसके कारण कोरोना का विस्तार हो गया। उन्होंने बेनीपट्टी में कोरोना पॉजिटिव मरीज को रखने पर भी आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा कि ये तो बेनीपट्टी के साथ अन्याय है। जिस क्षेत्र का मरीज है उसे उसी क्षेत्र में रखना चाहिए। वहीं एमएलए ने लॉकडाउन के कारण उपज रहे समस्याओं को देखते हुए बिना राशनकार्ड धारियों को भी सरकारी सहायता प्रदान किए जाने की मांग की। उन्होंने कहा कि सभी जनता के पास कार्ड नहीं है, उनको भी खाद्यान्न व राशि देनी चाहिए। वहीं जिला प्रशासन से बाढ़ पूर्व तैयारी किए जाने की मांग करते हुए कहा कि प्रशासन को इस बार विशेष सतर्कता बरतना चाहिए। पूर्व में ही सभी प्रकार की तैयारी के साथ दवा व अन्य संसाधन उपलब्ध कराना चाहिए। उन्होंने सामुदायिक किचेन की व्यवस्था पर नाराजगी प्रकट करते हुए कहा कि प्रशासन को हर परिवार में सूखा राशन देना चाहिए। मौके पर कांग्रेस के नेता बैधनाथ झा, मिहिर झा, विजय चौधरी, विनय झा, दीपक कुमार झा मंटू, मुन्ना सिंह, सुकेश झा आदि लोग मौजूद थे।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post