बिना योगदान के खाता संचालन का भार दिये जाने से आक्रोशित ग्रामीणों ने की स्कूल में तालाबंदी - BNN News

Latest

30 Jun 2019

बिना योगदान के खाता संचालन का भार दिये जाने से आक्रोशित ग्रामीणों ने की स्कूल में तालाबंदी

बेनीपट्टी(मधुबनी)। मधवापुर में शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गयी है। प्रखंड के तरैया के नवसृजित प्राथमिक विद्यालय में शनिवार की सुबह आक्रोशित ग्रामीणों ने स्कूल में तालाबंदी कर प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। ग्रामीण सुधाकर कुमार, वृक्ष मंडल, जयनारायण मंडल, सोहन मंडल, सनोज मंडल, नरेश मंडल, रामसागर मंडल, बेचन मंडल, विदेश्वर मंडल, हरिचन पासवान, रामाशीष मंडल, दिलीप लाल कर्ण, नरेश लाल कर्ण, चेतन मंडल, विनोद मंडल, विश्वनाथ मंडल, अमित मंडल आदि ने बताया कि स्कूल में शिक्षा विभाग की मनमानी चल रही है। ग्रामीणों का आरोप है कि जिस शिक्षक के खिलाफ गत डेढ़ वर्ष पूर्व आन्दोलन किया गया था। उक्त शिक्षक को आन्दोलन के बाद बीईओ ने दूसरे स्कूल में समायोजन करा दिया था। ऐसे शिक्षक को बीईओ पुनः स्कूल में योगदान दिला दिये है। वहीं जानकारी के अनुसार उक्त शिक्षक शमी हैदर का बिना योगदान ही खाता संचालन करने का फरमान शिक्षा विभाग ने जारी कर दिया है। बताया जा रहा है कि उक्त शिक्षक के द्वारा राशि की निकासी भी की गयी है। वहीं सूत्रों ने बताया कि सारा मामला फर्जी शिक्षक बहाली से जुड़ा हुआ है। ग्रामीणों ने दबे जुबान में बताया कि बीईओ के द्वारा एक फर्जी शिक्षक का योगदान के लिए प्रभारी एचएम पर अनावश्यक दवाब बनाया जा रहा था। उक्त फर्जी शिक्षक को वर्तमान एचएम योगदान नहीं लिया। जिसके कारण बीईओ के द्वारा शिक्षक शमी हैदर को स्कूल का योगदान दिलाने का निर्देश दिया। बताया जा रहा है कि उक्त शिक्षक शमी हैदर के संबंध में पूरी जानकारी होने के कारण वर्तमान एचएम ने उक्त शिक्षक का भी योगदान नहीं लिया। इधर, ग्रामीणों ने बताया कि जब एचएम ने शमी हैदर का योगदान स्कूल में लिया ही नही तो फिर कैसे उक्त शिक्षक खाता संचालन करने लगा। खाता संचालन की जानकारी होते ही ग्रामीण एक बार फिर भड़क गये, और शनिवार की सुबह स्कूल में तालाबंदी कर दी। प्रभारी एचएम किरण कुमारी ने बताया कि बीईओ के पहल पर सीआरसी विभूति नाथ झा मुझ पर गैरकानूनी कार्य करने का दवाब बना रहे है। उस दवाब के कारण मैं कार्य नहीं कर पा रही हूं। वहीं डीपीओ-स्थापना राजेश कुमार सिन्हा ने दूरभाष पर बताया कि वे फिलहाल बांका जिले में है। एक-दो दिन में जिला मुख्यालय वापस आने पर इसकी जांच कराई जाएगी। जांच में दोषी पाये जाने पर कार्रवाई की जाएगी।

No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें