Ticker

6/recent/ticker-posts

सलहा में डीलर की मनमानी पर लगे रोक तो उपभोक्ताओं को मिले समय पर राशन

बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी में आपूर्ति व्यवस्था चरमरा गई है। डीलरों की मनमर्जी से राशन की दुकान खुल रही है। राशन-किरासन का समय पर उठाव कर डीलर अपने मन मुताबिक वितरण करते है। जिसके कारण उपभोक्ताओं को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। गुरुवार को ऑपरेशन अन्नदाता मुहिम के तहत बेनीपट्टी के सलहा गांव के पीडीएस व्यवस्था का जायजा लिया। गांव के पंचायत सरकार भवन के समीप संचालित पैक्स अध्यक्ष सह जनवितरण प्रणाली विक्रेता जगदीश यादव के दुकान पर पहुँचा, तो दुकान के आगे किरासन तेल से भरे ड्राम पड़े हुए थे। दुकान पर न तो पैक्स अध्यक्ष ही थे, न ही कोई उपभोक्ता। अलबत्ता, दुकान के आगे टंगा जनवितरण प्रणाली का बोर्ड चीख कर इसे पीडीएस दुकान साबित कर रहा था। बोर्ड पर विगत दो दिन पूर्व का तारीख व आवंटित समान चढ़ा हुआ था। जिससे स्पष्ठ हो रहा था कि दो दिनों से दुकान नहीं खुली हुई हो। दुकान के आगे उपला बना रही एक महिला से पूछा तो बताने लगी, यौ सर ई दोकान कखन खुलै छेई, आ कखन बंद, ओकर कउनो ठिकाना नै छेई। कुछ ही दूरी पर एक अन्य पीडीएस दुकान पाया गया, जो गांव के अंतिम छोड़ पर संचालित था। पीडीएस विक्रेता संजय कुमार यादव के दुकान पर पहुँचा तो दुकान सरकारी कम, सीमेंट की दुकान अधिक लगी। दुकान के बरामदे पर यूं सीमेंट रखा गया था, मानो ये कोई पीडीएस दुकान ही न हो। बोर्ड अद्यतन नहीं था, गोदाम पर ताला झूल रहे थे। इतने में डीलर श्री यादव पहुँचे, तो उन्होंने बोर्ड को सही करने की वकालत शुरू कर दी। डीलर ने बताया कि खाद्यान्न का पूर्ण वितरण कर दिया गया है। गोदाम को खोलने के लिए आग्रह किया गया तो डीलर सकपका कर चाभी नहीं होने की बात शुरू कर दी। डीलर श्री यादव ने बताया कि उनके दुकान को पीएचएच के तहत 1363 यूनिट का खाद्यान्न आवंटित किया जाता है। जिसमें 40 क्विंटल 89 किलो चावल व 27 क्विंटल 26 किलो गेंहू। अंत्योदय के तहत 126 परिवार को खाद्यान्न दी जाती है। उधर, ग्रामीणों ने बताया कि दोनों डीलर हमेशा मनमानी करते है।

Post a comment

0 Comments