Ticker

6/recent/ticker-posts

एसडीपीओ के तत्परता से परिजन को मिली विक्षिप्त महिला

बेनीपट्टी(मधुबनी)। बच्चा चोर व अज्ञात व्यक्ति के अफवाह के बीच बेनीपट्टी पुलिस ने बरहा गांव में विक्षिप्त होकर घूम रही महिला को सुरक्षित परिजन को सौंप दिया है। मिली जानकारी के अनुसार बरहा गांव में संधिग्ध महिला के होने की जानकारी आम होते ही ग्रामीण जुटने लगे। इसी बीच इस बात की जानकारी किसी ने एसडीपीओ को मोबाइल पर दी। सूचना मिलते ही एसडीपीओ फौरन बेनीपट्टी एसएचओ को दल बल के साथ बरहा पहुँच कर महिला को सुरक्षित लाने का निर्देश दिया। इधर, बेनीपट्टी थाना के अवर निरीक्षक अजय कुमार पासवान तुरंत दल बल के साथ मौके पर पहुँच कर ग्रामीणों को समझा-बुझाकर महिला को थाना ले आए। इस दौरान महिला बल ने विक्षिप्त से उसके परिजन के संबंध में पूछताछ की, तो विक्षिप्त महिला की पहचान अरेर थाना के चतरा गांव के मो. हबीब की पत्नी जुलेखा खातून के रूप में की गई।  बेनीपट्टी एसएचओ ने तुरंत इसकी सूचना अरेर थाना को देकर उसके परिजन को सूचित करने को कहा। पुलिस से जानकारी मिलने के बाद विक्षिप्त महिला के पति थाना पर पहुँच कर पुलिस को कृतज्ञता व्यक्त करते हुए महिला को अपने साथ ले गए। वही शुक्रवार की देर रात एक बार फिर बेनीपट्टी के नवकी पोखैर पर अज्ञात बच्चा चोर की अफवाह उड़ी। अफवाह का बाजार गर्म होते ही लोग अपने हाथों में लाठी-डंडा लेकर दौड़ने लगे। अत्यधिक हल्ला पर घटनास्थल पर पहुँची पुलिस ने चार युवक को पकड़ लिया। मिली जानकारी के अनुसार सभी युवक अपने गाय के बछड़े को खोज कर रहे थे। दूर से बघार में टॉर्च जलने पर लोगों ने बच्चा चोर का अफवाह उड़ा दिया। उधर एसएचओ ने बताया कि युवक बेनीपट्टी के ललन झा, विजय झा, शेखर झा व लाला नाम का था। पुलिस ने सभी युवकों को रात के अंधेरे में इस प्रकार नहीं घूमने की सलाह देते हुए छोड़ दिया। उधर, बेनीपट्टी एसडीपीओ पुष्कर ने एक बार फिर आम लोगों से अफवाह को बल नहीं देने की अपील करते हुए कहा, की अभी अधिकांश लोग आम की रक्षा के लिए बगीचे में सोते है। उनलोगों के द्वारा काम के लिए टॉर्च जलाया जाता है। वही एसडीपीओ ने कहा कि अगर कोई भी व्यक्ति संधिग्ध अवस्था में दिखाई देता है तो कानून को हाथ मे लेने के बजाय पुलिस को सूचित करें।


Post a comment

0 Comments