Ticker

6/recent/ticker-posts

नवकरही मध्य विद्यालय में एचएम के आदेश से बंद है शौचालय, स्कूल में की जा रही मनमानी

बेनीपट्टी (मधुबनी)। प्रखंड के नवकरही स्थित मध्य विद्यालय में शिक्षा विभाग की सारी दिशा-निर्देश की धज्जियां उड़ायी जा रही है। स्कूल के प्रभारी एचएम के मनमाने नियम पर स्कूल का संचालन किया जा रहा है। एक ओर जहां एचएम स्कूल के सभी शौचालय में ताला लटका दिए है। वहीं स्कूल में साफ-सफाई नहीं होने के कारण पूरे परिसर में छात्रों के द्वारा फेंकी गई एमडीएम का खाद्यान्न पसरा हुआ है। जिसके कारण स्कूल में बदबू फैल रहा है। पूछे जाने पर एचएम ने बताया कि साफ-सफाई कराने के लिए विद्यालय को कोई फंड नहीं मिलता है। जो साफ-सफाई कराते रहेंगे। वहीं छात्रों की संख्या के संबंध में भी प्रभारी ने जवाब देने से इंकार करते हुए कहा कि स्कूल की गोपनीय आंकड़ा नहीं दिया जा सकता है। सूत्रों की माने तो स्कूल के शिक्षकों के अड़ियल रवैया के कारण अधिकांश नामांकित छात्र स्कूल आने से परहेज करते है। लेकिन, स्कूल के प्रभारी एचएम के द्वारा पंजी पर अधिक छात्रों की उपस्थिति बनाई जाती है। वहीं सूत्रों ने बताया कि इस आड़ में एमडीएम योजना में भारी अनियमितता की जाती है। हैरत है कि प्रखंड के सभी स्कूलों में धूंआ रहित एमडीएम पकाने के लिए गैस मुहैया कराई गई, लेकिन, नवकरही के मध्य विद्यालय में आज भी जलावन पर एमडीएम पकाया जा रहा है। गौरतलब है कि नवकरही के मध्य विद्यालय में अनुमानित तौर पर करीब सात सौ छात्र-छात्रा नामांकित है। वहीं विभाग के द्वारा शिक्षकों की फौज खड़ी करने के बावजूद शिक्षकों के लापरवाही के कारण छात्र पढ़ने के समय भी वर्ग से बाहर बरामदें पर खेलते रहते है। जायजा लेने के क्रम में प्रभारी एचएम समेत पांच शिक्षक ही उपस्थित थे। जिसमें प्रभारी समेत दो शिक्षक कार्यालय में आराम करते दिखे। वहीं तीन शिक्षकों के भरोसे विद्यालय का संचालन किया जा रहा था। जो अपने आप में हास्याप्रद है। वहीं ग्रामीणों ने बताया कि एचएम के अड़ियल रवैया के कारण स्कूल का शैक्षणिक माहौल गायब हो गया है। एमडीएम योजना को मनमानी पूर्वक संचालन की जाती है। खानापूर्ति किए जाने के कारण अधिकांश छात्र एमडीएम मैदान में फेंक देते है। वहीं ग्रामीण ने बताया कि स्कूल की सभी पंजियों की जांच हो तो भारी अनियमितता सामने आएगी। लेकिन, अधिकारियों के द्वारा स्कूल का निरीक्षण नहीं किया जा रहा है। जिसके कारण प्रभारी एचएम मनमानी से स्कूल का संचालन कर रहे है। बता दें कि स्कूल में पूर्व के वर्षों में करीब आधा दर्जन शौचालय का निर्माण कराया गया है। लेकिन, स्कूल प्रशासन की लापरवाही के कारण अधिकांश शौचालय क्षतिग्रस्त हो चुके है। दो शौचालय दुरुस्त अवस्था में होने के बावजूद ताला लगा हुआ रहता है। फलस्वरुप, छात्रों को खुले में शौच जाना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने बीईओ से तत्काल स्कूल की पंजियों की जांच कर कार्रवाई किए जाने की मांग की है। एमडीएम प्रभारी सज्जन कुमार ने बताया कि हर हाल में एमडीएम गैस चुल्हा पर पकाना है। अगर ऐसी बात है, तो जल्द ही स्कूल का जांच कर कार्रवाई की जाएगी। वहीं प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी मीना कुमारी ने बताया कि नवकरही के मध्य विद्यालय की जांच की जाएगी। अनियमितता एवं एमडीएम योजना में लापरवाही बरतने पर कार्रवाई की जाएगी।

Post a comment

0 Comments