79 लाख की निकासी के मामले में आरोपी के गिरफ्तारी नहीं होने से लोगों में आक्रोश - BNN News

Breaking

10 Mar 2018

79 लाख की निकासी के मामले में आरोपी के गिरफ्तारी नहीं होने से लोगों में आक्रोश

बेनीपट्टी (मधुबनी)। बेनीपट्टी का चर्चित सात निश्चय योजना की राशि निकासी मामले में अब तक एक भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो पायी है। जबकि प्रशासन ने इस मामले में पांच लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। प्राथमिकी दर्ज के करीब एक माह होने के बाद भी पुलिस तमासबीन की स्थिति में है। जबकि कांड के प्रारंभिक पर्यवेक्षण के बाद एसडीपीओ पुष्कर कुमार ने आरोपियों के गिरफ्तारी के निर्देश दिए हुए थे। उक्त निर्देश के बाद भी आरोपी खुलेआम घुम रहे है। सूत्रों की माने तो कांड के मुख्य आरोपी रामबाबू यादव को छोड़ कर अन्य सभी आरोपी पुलिसिया कार्रवाई से बेखौफ होकर कार्य कर रहे है। सभी आरोपियों के खुलेआम देखे जाने पर लोगों ने पुलिस की कार्रवाई पर संदेह व्यक्त करना प्रारंभ कर दिया है। लोगों की माने तो अब तक गिरफ्तारी नहीं होने के मामले में आरोपियों पर कुछ न कुछ विशेष मेहरबानी की जा रही है। गौरतलब है कि बेनीपट्टी पंचायत के विकास कार्यो के लिए आवंटित सात निश्चय योजना की राशि में से कथित तौर पर रामबाबू यादव के द्वारा फर्जी तरीके से राशि निकासी कर लिए जाने का आरोप लगाया गया। पंचायत सचिव सह कांड के आरोपी शिवनारायण यादव ने रामबाबू यादव पर चेक चुराकर फर्जी तरीके से 79 लाख की राशि निकासी एवं ट्रांसफर कर लिए जाने का खुलासा किया। उपरांत प्रशासन ने जांच कर 12 फरवरी को बेनीपट्टी थाना में मुखिया, मुखियापति, रामबाबू यादव, बैंककर्मी व पंचायत सचिव के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गयी।
पूर्व उप प्रमुख :- रामविनय प्रधान ने बताया कि आम तौर पर पुलिस ऐसे किसी आरोपी के प्रति नरमी नहीं बरतती है। पुलिस को तत्काल आरोपी के गिरफ्तारी कर मामले का पूर्ण खुलासा कर देना चाहिए। पुलिस मामले को शुरु से ही हल्के में ले रही है।
बीजेपी नेता रौशन मिश्रा ने बताया कि प्रशासन के मिलीभगत से सारा कार्य किया जा रहा है। सभी आरोपी सरकारी राशि की निकासी कर मौज कर रहे है। आरोपी पुलिस के कार्रवाई से बेखौफ अपने घर में सोते है। वहीं श्री झा ने प्रशासन से सभी पंचायतों के राशि की जांच कराने की मांग करते है।
जिला परिषद् सदस्य खुशबू कुमारी ने बताया कि पूरा मामला प्रशासनिक लापरवाही का नतीजा है। सवाल है कि जब राशि निकासी हो रही थी, तो प्रशासन क्या कर रहा था। अब प्राथमिकी हुई तो भी प्रशासन चुप है।

एसडीपीओ पुष्कर कुमार ने बताया कि राशि निकासी के मामले की जांच पुलिस हर एंगल से कर रही है। कांड में संलिप्त आरोपितों के गिरफ्तारी के निर्देश दिए जा चुके है। गिरफ्तारी नहीं होने पर पुलिस अग्रेतर कानूनी कार्रवाई करेगी।

No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें