Ticker

6/recent/ticker-posts

बाढ़ के कहर से जर्जर हुआ पाली-कमतौल पथ

बेनीपट्टी(मधुबनी)। बेनीपट्टी के पाली एसएच-52 पथ से कमतौल को जोड़ने वाली मुख्य सड़क के जर्जरता से ग्रामीणों को भारी परेशानी हो रही है। पाली चौक से करीब एक किमी तक सड़क पूर्णरुप से जर्जर हो गयी है। सड़क पर दर्जनों जगहों पर गड्ढें हो गये है।जहां अक्सर बाईक व अन्य वाहन दुर्घटना का शिकार हो रहा है। सड़क पर बिखरे पत्थर के टुकड़ों से भी लोगों को परेशानी हो रही है। स्थानीय लोगों ने बताया कि कई बाईक सवार पत्थर के कारण दुर्घटना का शिकार हो गये है। बावजूद विभाग सड़क के निर्माण अथवा पूर्ण मोटरेबुल कराने का पहल नहीं कर रहा है। उधर विभागीय उपेक्षा से स्थानीय लोगों में आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है। गौरतलब है कि करीब सात वर्ष पूर्व उक्त पथ का निर्माण नाबार्ड योजना से पाली से बैंगरा कोठी तक कराया गया था। सड़क निर्माण से पूर्व मापी में लापरवाही के कारण करीब एक किमी सड़क मापी से बंचित रह गया, जिसके कारण उक्त भाग का निर्माण नहीं हो पाया।इसी बीच उक्त पथ वर्ष-2011 व वर्ष-2017 के प्रलयकारी बाढ़ के जलप्रवाह के कारण सड़क पूर्णरुप से ध्वस्त हो गया। डीएम के निर्देश पर संबेदक के द्वारा सड़क के जर्जर भागों पर ईंट व मिट्टी से दुरुस्त करने का प्रयास किया गया, लेकिन उक्त युक्ति पाली के पथ पर सफल होता नहीं दिख रहा है। जिला परिषद् सदस्य खुशबू कुमारी ने बताया कि उक्त पथ के निर्माण के लिए वे अनशन कर चुकी है। पदाधिकारियों के द्वारा महज आश्वासन ही दिया गया। जिप सदस्य ने बताया कि उक्त सड़क के जर्जरता के कारण काफी परेशानी होती है। बता दें कि पाली से कमतौल को जोड़ने वाली पथ के दुरुस्त होने पर बेनीपट्टी मुख्यालय के लोगों को दरभंगा की आवाजाही करने में काफी सुगमता होती है। फिलहाल लोग पांच किमी पश्चिमी होकर बसैठ से आवाजाही करने को मजबूर है। ग्रामीणों ने बताया कि पथ निर्माण होने से लोगों को दरभंगा व बिस्फी के कई जगहों पर आवाजाही करने में आसानी होगी। पूर्व मुखिया सह जदयू नेता राजेन्द्र मिश्रा, अब्दुल खालिक, रौशन मिश्रा, इंद्रजीत मिश्रा, मो. मुन्ना सहित कई लोगों ने विभागीय अधिकारी सड़क निर्माण की मांग की है। इस संबंध में ग्रामीण कार्य विभाग के कार्यपालक अभियंता अनिल कुमार ने बताया कि बाढ़ में ध्वस्त सड़कों को हर जगह मोटरेबुल कराया गया है। उबड़-खाबड़ होने पर दुरुस्त करा दिया जायेगा। पथ निर्माण के निर्देश मिलने पर विभागीय कार्यवाही कर निर्माण कराया शुरु कराया जायेगा। 

Post a Comment

0 Comments