Ticker

6/recent/ticker-posts

बेनीपट्टी बस दुर्घटना में 35 लोगों की मौत, देर रात तक राहत बचाव कार्य जारी

बेनीपट्टी(मधुबनी)। क्या पता जिस मकसद के लिये यात्रा हेतु बस में सवार सभी यात्री निकले उसे मौत ने गले लगा लिया घटना मधुबनी जिले के बेनीपट्टी अनुमंडल के बसैठ स्थित सुंदरपुर मुख्य पथ एसएच-52 पथ पर हुई।
मधुबनी से सीतामढ़ी जा रही एक यात्री भरा बस नियंत्रण खो जाने के कारण बेनीपट्टी अनुमंडल के बसैठ सुन्दर टोला के पास एक तालाब में जा गिरी जिससे बस में सवार करीब पचास लोगों की मृत्यु होने की संभावना बतायी जा रही है।फिलहाल एसडीआरएफ के जवानों के द्वारा 35 शव को निकाल लिया गया है।घटना की जानकारी मिलते ही स्थानीय पुलिस प्रशासन के साथ मधुबनी जिला पदाधिकारी गिरीवल दयाल सिंह,पुलिस अधीक्षक दिपक वरनवाल बेनीपट्टी एसडीओ राजेश परिमल,एसडीपीओ निर्मला कुमारी सहित जिले के दर्जनों थानों के पुलिस मौके पर पहुंच गयी, लेकिन मौके पर क्रेन के नहीं पहुंचने से नाराज स्थानीय लोगां ने डीएम,एसपी सहित उपस्थित सभी अधिकारियों पर पथराव किया,जिसमें एसपी के माथे पर चोट आयी है।वहीं कई अधिकारी मामूली रुप से जख्मी हुए है। उधर पथराव होते ही प्रशासनिक अधिकारी मौके से करीब दो किमी दूर सोईली पुल पर पहुंच गये,ओर स्थिति के संबंध में जानकारी लेते रहे,स्थानीय लोगों ने बताया कि एसपी व डीएम के आते ही प्रशासन की ओर से लाठीचार्ज किया गया,जिससे लोग भड़क गये। स्थ्ति इतनी खराब हो गयी कि उपद्रवियों के द्वारा दो एंबूलैंस,एसडीआरएफ की दो वाहन व कई अधिकारियों के गाड़ियों के शीशा को चकनाचुर कर दिया।वहीं इस दौरान पुलिस की ओर से दो राउंड हवाई फायरिंग की भी सूचना स्थानीय लोगों के द्वारा दी गयी है। उधर घटना की गंभीरता को देखते हुए सीएम के निर्देश पर कमिश्नर आरके खंडेलवाल,आईजी उमाशंकर सुधांशु सहित दरभंगा के एसपी मौके पर पहुंच कर स्थिति को नियंत्रित किया।उपरांत एसडीआरएफ के जवानों के द्वारा बस को क्रेन के सहारे निकालकर शव निकाला गया।समाचार भेजे जाने तक एसडीआरएफ के जवानों के द्वारा सर्च अभियान चलाया जा रहा है। इधर लोगों के उपद्रव की सूचना पर जिला से भारी मात्रा में पुलिस फोर्स को बुला लिया गया।क्षेत्रीय विधायक भावना झा,डीएम गिरिवर दयाल सिंह,पुलिस अधीक्षक माईक से लोगों को शांत रहने की अपील कर तत्काल सभी मृतक के परिजनों को चार-चार लाख की अनुग्रह की राशि देने की घोषणा की। डीएम ने बताया कि मृतकों के परिजनों को तत्काल मुआवजा देने की प्रक्रिया की जा रही है।