सात निश्चय योजना में अनियमितता की बढ़ रही शिकायत - BNN News

Breaking

22 Jun 2019

सात निश्चय योजना में अनियमितता की बढ़ रही शिकायत

बेनीपट्टी(मधुबनी)। मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना में लूटखसोट की जा रही है। बेनीपट्टी प्रखंड में सात निश्चय योजना के तहत कराए जा रहे जल-नल योजना एवं गली-नाली योजना में व्यापक पैमाने पर अनियमितता की जा रही है। संबेदक व वार्ड क्रियान्वयन समिति के मिलीभगत से जमकर लूटखसोट की जा रही है। फलस्वरुप, योजना धरातल पर नजर नहीं आ रही है। प्रखंड के अधिकांश पंचायतों में सात निश्चय योजना की खानापूर्ति किए जाने एवं अनियमितता की शिकायत लगातार अधिकारियों को मिल रही है। बावजूद, अब तक किसी भी संबेदक व दोषियों के खिलाफ कार्रवाई के मामले सामने नहीं आ रहे है। सूत्रों की माने तो कई पंचायत के मुखिया भी परदा के पीछे से खेल में संलिप्त है। जिसके कारण कई वार्डों में योजना महीनों से पूर्ण नहीं हो पाया है। युवा कांग्रेस के अनुसूचित जाति-जनजाति के जिलाध्यक्ष सितेश कुमार पासवान ने गत तीन दिन पूर्व एसडीएम को आवेदन देकर पूरे पंचायत के सात निश्चय योजना की व्यापक जांच की गुहार लगाई है। आवेदक ने बताया कि उनके पंचायत में घटिया सामाग्री का धड़ल्ले से प्रयोग किया जा रहा है। जिसके कारण योजना फलीभूत नहीं हो सकेगी। उधर, भाजपा के जिलाध्यक्ष घनश्याम ठाकुर ने एसडीएम को आवेदन देकर पूरे बेनीपट्टी के कई पंचायतों के सात निश्चय योजना की जांच की मांग की। हालांकि, जिलाध्यक्ष के परिवाद पर एसडीएम ने गंभीरता से लेते हुए आवेदन को बीडीओ को भेज दस दिनों के अंदर जांच कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है। सूत्रों ने बताया कि प्रखंड के पश्चिमी भाग में भारी लूटखसोट की गयी है। बताया जा रहा है कि पूरे ब्लॉक में एक रैकेट सक्रिय है जो वार्डो को अपने पाले में कर योजना का बंटाधार कर रहे है। ऐसे लोग दिन भर प्रखंड कार्यालय के आसपास अपनी सक्रियता बनाये रखते है। गौरतलब है कि सात निश्चय योजना के जल-नल योजना के सफल होने से लोगों को शुद्ध पेयजल की समस्या खत्म होने की पूरी संभावना थी। जो भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रही है। इस संबंध में पूछे जाने पर एसडीएम मुकेश रंजन ने बताया कि जहां से भी शिकायत मिली है। उन सभी योजनाओं की जांच कराई जाएगी। जांच में दोषी पाये जाने पर कार्रवाई तय है।

No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें