बिरौली में दलितों ने कब्जा किया जमीन, गांव में तनाव - BNN News

Latest

1 Apr 2017

बिरौली में दलितों ने कब्जा किया जमीन, गांव में तनाव

बेनीपट्टी(मधुबनी)। अंचल के त्यौंथ पंचायत के बिरौली गांव में दलितों के द्वारा जमीन कब्जा कर लेने से गांव में तनाव का माहौल व्याप्त हो गया है।प्रशासन की ओर से उक्त भूमि पर धारा-144 लागू कर दी गयी है।वहीं निरोधात्मक कार्रवाई की गयी है।दलितों ने उक्त भूमि पर बांस से घेराबंदी कर झोपड़ी बना ली है।शनिवार की सुबह अंचलाधिकारी ललित कुमार सिंह व एसएचओ सह पुलिस निरीक्षक हरेराम साह दल-बल के साथ बिरौली गांव पहुंच कर दोनों पक्षों को शांति बनाये रखने एवं जांच कर उचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।मिली जानकारी के अनुसार बिरौली मध्य विद्यालय के दक्षिण करीब 10 एकड़ जमीन को महमदपुर के महंथ चंदेश्वर दास की जमीन बताकर गांव के दलितों ने कब्जा कर लिया है।वहीं दूसरे पक्ष के लोगों ने उक्त भूमि की स्वामित्व का दावा करते हुए लगान एवं रशीद कटाने की बात कहीं है।दूसरे पक्ष के केवलदार योगेंद्र साह, रामजतन यादव, मुक्तेश्वर यादव, बिरेंद्र कुमार कंठ, रामदयाल यादव, परमेश्वर यादव सहित कई लोगों ने बताया कि उनलोगां ने जमीन को महमदपुर के महंथ चन्देश्वर दास ने वर्षो पूर्व केवाला कराया था।जिसके कागजी प्रमाण है।वहीं कब्जा किये रामनंदन पासवान, श़त्रुध्न पासवान, लोचन पासवान, बालेश्वर पासवान समेत कई लोगों ने बताया कि महंथ से फर्जी तरीके से दूसरे पक्ष के लोगों ने केवाला करा लिया है। वहीं गांव के उपेंद्र पासवान ने बताया कि वर्ष 1974 से ही उक्त जमीन के मामले को लेकर विवाद हो रहा है।उनके पक्ष से वर्ष 1975-76 में भू हदबंदी की वाद चलायी थी।वहीं लोगों ने उक्त जमीन को महादलितों वर्ग के लोगों में वितरण कराने की मांग की है।उधर गांव में जमीन कब्जा कर लेने की सूचना मिलते ही अनुमंडल पदाधिकारी के निर्देश पर प्रशासनिक अमला जांच में जुट गयी है।एसडीएम राजेश परिमल ने बताया कि उक्त भूमि पर धारा-144 लागू कर दी गयी है।दोनों पक्षों पर निरोधात्मक कार्रवाई के निर्देश दिये गये है।शांति-व्यवस्था हर हाल में कायम रखने का निर्देश अधिकारियों को दिया गया है।वहीं अंचलाधिकारी ललित कुमार सिंह ने बताया कि दलितों का कहना है कि दूसरे पक्ष के लोगों का केवाला फर्जी है,केवाला की जांच की जायेगी एवं भूहदबंदी वाद की जानकारी ली जा रही है।जांच कर उचित कार्रवाई की जायेगी।समाचार प्रेषण तक दलितों के द्वारा झोपड़ी बनाने का सिलसिला चालू था।

No comments:

Post a Comment

फेसबुक पर रेगुलर न्यूज़ अपडेट्स पाने के लिए पेज Like करें व अधिक से अधिक शेयर करें