बेनीपट्टी(मधुबनी)। नेपाल के अधवारा समूह के सहायक नदियों के उछाल से करीब सात दिनों से पश्चिमी क्षेत्र में बाढ़ की स्थिति बरकरार है। हालांकि, धौंस, खिरोई, बुढनद, ककुरा, रातो समेत कई नदियों का जलस्तर स्थिर बना हुआ है। बावजूद, लोगों में बाढ़ त्रासदी को लेकर दहशत बना हुआ है। बेनीपट्टी के पाली, सलहा, रानीपुर, चानपुरा, बगवास, सन्हौली, नजरा, मेघवन, बर्री, माधोपुर, रजघट्टा, लरुगामा, बाजितपुर, रजवा आदि कई गांव के लोग सहमे हुए है। जबकि कई गांव बाढ़ के पानी से घिरा हुआ है। शिवनगर के सामाजिक कार्यकर्ता विनोद शंकर झा लड्डू, विशनपुर के मुन्ना सिंह, शिवनगर के दीपक कुमार झा उर्फ मंटू, समीर झा मोनू , तफ़्सीर आलम सहित कई लोगों ने बताया कि नदियों के जलस्तर के बाद अब भारी बारिश परेशानी का कारण बना हुआ है। रास्ता गीला होने से निकलना मुश्किल है। उधर, संभावित बाढ़ को देखते हुए बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल के जेई सुधीर कुमार ने बताया कि कल नजरा में बांध के सुराख की जानकारी मिली, पूरी रात बांध की मरम्मती कराई गई है। जेई ने बताया कि लगातार बांध का जायजा लिया जा रहा है, हर सूचना पर बांध का जायजा लिया जा रहा है। एसडीएम मुकेश रंजन ने बताया कि जलस्तर पर नजर रखी जा रही है। सीओ को पानी के कारण हुए विस्थापितों को मदद करने का निर्देश दिया गया है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here


ई-मेल टाइप कर डेली न्यूज़ अपडेट पाएं

BNN के साथ विज्ञापन के लिए Click Here

Previous Post Next Post