बेनीपट्टी(मधुबनी)। अरेड़ के कपसिया बिजलपुरा गांव में कथित तालाब के स्वामित्व को लेकर विवाद उत्पन्न हो गया। जिसे अरेड़ पुलिस ने आपसी सूझबूझ से शांत करा लिया। मिली जानकारी के अनुसार बिजलपुरा के तालाब की बंदोबस्ती जिला मत्स्य विभाग से मछुआरों को की गई है। वहीं कुछ ग्रामीण तालाब पर अपना स्वामित्व की बात कह कोर्ट में मामला होने की बात कही। बताया जा रहा है कि बुद्धवार को कुछ मछुआरा जाल लेकर उक्त तालाब में मछली मार रहा था। जिसकी भनक लगते ही ग्रामीणों ने मछुआरों को मछली मारने से मना कर दिया। ग्रामीणों ने बताया कि मछली मारने के लिए मछुआरों ने तालाब में जहर दिया था। वहीं मछुआरों ने जहर देने की बात से इंकार कर दिया। उधर, मछुआरों व ग्रामीणों के बीच हल्की नोकझोंक होने के बाद अरेड़ थाना के सहायक अवर निरीक्षक इन्द्रदेव सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच कर तत्काल मामला को शांत करा दोनों पक्षों को समस्या होने पर अरेड़ थाना आने की बात कही। फिलहाल, मामला शांत हो गया है। ग्रामीणों ने पुलिस के समक्ष तत्काल मछली निकाल लेने की बात मान ली। जिसके बाद मामला शांत हो गया। उधर, मछुआ सोसायटी से मिली जानकारी के अनुसार उक्त तालाब को वर्ष-2022 तक के लिए बंदोबस्त कर दिया गया है। बेवजह कुछ लोग माहौल को खराब करने का प्रयास करते है।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post