बेनीपट्टी(मधुबनी)। बाढ़ से सुरक्षा के लिए जल संसाधन विभाग एहतियात बरत रही है। प्रखंड के विशनपुर-मकिया स्थित वाटरवेज बांध के कटाव को रोकने के लिए जल संसाधन विभाग तैयारी शुरु कर दी है। विभाग के अभियंता मंगलवार को मकिया पहुंच कर वाटरवेज बांध की स्थिति को देख कर मजदूरों से बांध के कटाव को रोकथाम के लिए बांस पाईलिंग शुरु करा दिया है। जेई दिग्विजय विजेन्द्र की माने तो अब बांध मरम्मत करने का समय नहीं है। बारिश व बाढ़ की संभावना को देखते हुए बांध को कटाव से बचाने के लिए बांस गाड़ कर खाली जगहों में मिट्टी भरा बोरा रखने का कार्य कराया जा रहा है, ताकि बाढ से बांध को बचाया जा सके। गौरतलब है कि रविवार को आज समाचार पत्र में खिरोई नदी का वाटरवेज तटबंध क्षतिग्रस्त होने से ग्रामीणों में दहशत, शीर्षक से समाचार प्रकाशित की थी। जिसके बाद जल संसाधन विभाग के अधिकारी हरकत में आ गए। बता दें कि वाटरवेज तटबंध की मरम्मत नहीं होने से बांध की स्थिति संतोषप्रद नहीं है। कई जगह बांध क्षतिग्रस्त अवस्था में है। बाढ के समय में बांध के टूटने से मधुबनी जिले के पश्चिमी भूभाग समेत सीतामढ़ी व दरभंगा जिले को जलमग्न कर देगा। जेई ने बताया कि बांध की रोजाना जायजा लेने के लिए तीन जगहों पर बांध के कर्मियों व विभागीय अधिकारी के रहने के लिए अस्थाई झोपड़ी बनाई गई है। जहां कर्मी बाढ़ के समय दिन-रात मुस्तैदी से रहकर बांध की रक्षा के लिए मौजूद रहेंगे। वहीं जेई ने बताया कि सुरक्षा के लिहाज से बांध पर बोरी में मिट्टी डालकर बैग तैयार कर रखा गया है। ताकि, आपात स्थिति आने पर बैग डालकर बांध को ध्वस्त होने से रोका जाएगा।


आप भी अपने गांव की समस्या घटना से जुड़ी खबरें हमें 8677954500 पर भेज सकते हैं... BNN न्यूज़ के व्हाट्स एप्प ग्रुप Join करें - Click Here





Previous Post Next Post